Home Business हुगली जूट मील के 3000 से ज्यादा श्रमिकों के सामने रोजी-रोटी का...

हुगली जूट मील के 3000 से ज्यादा श्रमिकों के सामने रोजी-रोटी का संकट

31
0

एक जमाने में कोलकाता को जूट मील का सरताज कहा जाता था, आधे से ज्यादा जूटमिलें वाम मोरचा के शासनकाल में बंद हो गई और जो थोड़ी बहुत रह गईथी, वह भी तृणमूल सरकार की उदासीनता के कारण बंद हो गई या बंद होने के कगार पर हैं .गार्डन रिच इलाके की बहुचर्चित हुगली जूट मील भी रविवार को बंद कर दी गई. इस मील में 3000 से ज्यादा श्रमिक काम करते थे. वे सब सड़कों पर आ गए हैं और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से हस्तक्षेप की मांग कर रहे हैं. मील बंद होने के कई कारण बताए जा रहे हैं. पिछले कई दिनों से मील प्रबंधन और श्रमिक यूनियन के बीच असंतोष व मतभेद देखा जा रहा था. फिलहाल गार्डन रिच इलाके में तनाव की स्थिति बनी हुई है. श्रमिक मील के गेट पर प्रदर्शन कर रहे हैं. एक समय कोलकाता कल कारखानों की नगरी कहा जाता था, लेकिन वाममोर्चा सरकार से लेकर तृणमूल कांग्रेस सरकारों ने इस ओर कोई ध्यान नहीं दिया जिसके कारण कोलकाता की जूट मिलें बंद होती चली गई.

Facebook Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here