Home Business सरकार के किस फैसले से सिलीगुड़ी के लोग खुश?

सरकार के किस फैसले से सिलीगुड़ी के लोग खुश?

811
0

केंद्र सरकार ने पेट्रोल और डीजल के मूल्यों में ढाई रुपए से लेकर 5 रूपये तक की कटौती की है| वित्त मंत्री अरुण जेटली ने केंद्र स्तर पर तेल के मूल्य में ढाई रुपए की कटौती की है और ढाई रुपए भाजपा शासित राज्यों ने कटौती की है| इस प्रकार से तेल के मूल्यों में 5 रूपये की कटौती उन क्षेत्रों में देखी जा रही है, जहां भाजपा की सरकार है| पश्चिम बंगाल में तेल के मूल्य में ढाई रुपए की कटौती और तृणमूल सरकार ने पूर्व में १ रूपये की कटौती की थी| इस तरह बंगाल में रहने वाले लोगों को साढे 3 रूपये का लाभ हो रहा है| असम, त्रिपुरा, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, झारखंड आदि राज्यों में 5 रूपये की राहत लोग पा रहे हैं| इसके साथ ही कई सवाल उठ खड़े हुए हैं| क्या डीजल-पेट्रोल के मूल्यों में ढाई रुपए से लेकर 5 रूपये तक की कमी कर देने से जनता को परेशानी से छुटकारा मिल जाएगा? शायद नहीं, महत्वपूर्ण सवाल यह है कि पेट्रोल-डीजल को एक बार में सस्ता कर देने से समस्या यहीं रुक नहीं जाती| बल्कि रोज-रोज 25 पैसे से लेकर 50 पैसे और 75 पैसे तेल के मूल्य में जो वृद्धि हो रही है, उस पर नियंत्रण करने की जरूरत है| आज सरकार ने तेल के मूल्यों में कटौती तो कर दी, लेकिन इस बात की क्या गारंटी कि तेल के मूल्य बढ़ेंगे नहीं? इसका स्थाई समाधान निकालने की जरूरत है| आज तेल का मूल्य कम हो गया, लेकिन जिस तरह से रोज-रोज मूल्य में इजाफा होता जा रहा है, अगर यह जारी रहता है तो 1 महीने में ही कटौती किया हुआ मूल्य वापस उपभोक्ता पर भारी पड़ने लगेगा| यही कारण है कि जिस समय वित्त मंत्री तेल के मूल्य में कटौती की घोषणा कर रहे थे, उसी समय दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ट्वीट कर रहे थे कि सरकार इस बात की गारंटी क्यों नहीं लेती कि भविष्य में तेल के दाम नहीं बढ़ेंगे| पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने केंद्र द्वारा उठाए गए कदम पर असंतोष जाहिर करते हुए कहा है कि अगर सरकार को जनता का ख्याल होता, तो कम से कम 10 रूपये की कटौती होती| हमने इस मुद्दे पर सिलीगुड़ी के सभी वर्गों के लोगों से बात की है| आज के समय में घर-घर में दो पहिए तीन पहिए या कार मिल जाएंगे| खासकर स्कूटर या बाइक तो अवश्य ही रहता है| कई लोगों से बात करने पर ऐसा लगा कि वे केंद्र सरकार के फैसले से खुश हैं और बंगाल की सरकार से अपेक्षा कर रहे हैं कि जिस तरह भाजपा की प्रदेश सरकार तेल के मूल्यों में कटौती कर रही है उसको देखते हुए तृणमूल सरकार भी तेल के मूल्य में कटौती करेगी| सिलीगुड़ी के मल्लागुडी, सिलीगुड़ी जंक्शन, सेवक रोड, जलपाईमोड़, तीन बत्ती मोड़, थाना रोड, एसएफ रोड, सिलीगुड़ी, नया बाजार , हिल कार्ट रोड, सिलीगुड़ी जंक्शन, चंपासारी, सालूगाड़ा आदि क्षेत्रों में रहने वाले कई लोगों से बात की गई तो उनके चेहरे पर प्रसन्नता साफ झलक रही थी| वह केंद्र सरकार के इस कदम की तारीफ कर रहे थे, तो कुछ इस चिंता से भी पीड़ित है कि क्या सरकार भविष्य में तेल का दाम नहीं बढ़ाएगी? कुछ वाहन चालकों ने बताया कि अच्छा होता कि सरकार रोज-रोज की मूल्यवृद्धि पर कोई सख्त कदम उठाती| वैसे केंद्र सरकार के इस कदम का सिलीगुड़ी के 70 फ़ीसदी लोगों ने समर्थन किया है| नया बाजार के कई व्यवसायियों से हमने सरकार के इस कदम पर उनकी प्रतिक्रिया जाननी चाही, तो अधिकांश व्यवसायियों ने इसे राहत भरा कदम बताया है| अब देखना यह है कि सरकार ने जो राहत जनता को दी है, वह कितना टिकाऊ साबित होती है?

Facebook Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here