Home Entertainment पब, बारों में धनतेरस की कौड़ियां गुल खिलाएंगी ?

पब, बारों में धनतेरस की कौड़ियां गुल खिलाएंगी ?

233
0

धनतेरस पर मनोरंजन की दुनिया में कौड़ियों का विशेष महत्व होता है .कहा जाता है कि धनतेरस पर कौड़ियों की पूजा करके उन्हीं कौड़ियों का इस्तेमाल मनोरंजन केंद्रों में करने ,जुआ खेलने में करने पर सौभाग्य की प्राप्ति होती है. दिवाली में रिद्धि सिद्धि की प्राप्ति होती है .मुंबई के इतिहास में मनोरंजन के जितने भी क्लब हैं ,उन सभी में अथवा अधिकतर केंद्रों में धनतेरस के दिन संस्थानों के मालिक कौड़ियों की पूजा करते हैं ताकि उनका व्यापार फले फूले .एक समय मुंबई में धनतेरस के दिन डांस बारों में धनतेरस की कौड़ियों का विशेष महत्व होता था. मान्यता के अनुसार डांस बारों के मालिक बार बालाओं को कौड़िया देते थे तथा डांस फ्लोर पर भी कौड़िया लगाते थे. उनका उस दिन का कारोबार खूब फलता फूलता था. मुंबई की इस मान्यता को आज भी देश के कुछ मेट्रोपॉलिटन शहरों में इस्तेमाल किया जा रहा है. सिलीगुड़ी में हालांकि डांस बार तो नहीं है , पर नाइट बारो में आज के दिन व्यापार को बढ़ाने के लिए कुछ बारवाले रात्री में धन के देवता कुबेर को कौड़िया चढ़ाते हैं. तांत्रिक अनुष्ठान करते हैं. इससे न केवल उनका कारोबार ही बढता है बल्कि दिन दूनी रात चौगुनी कारोबार में वृद्धि होती है .सिलीगुड़ी में कुछ बारो में कौड़ियों से मंत्र अनुष्ठान होने की जानकारी मिली है. तंत्र मंत्र साधना करने वाले बताते हैं कि कुबेर देवता से अभिमंत्रित कौड़ियों का इस्तेमाल किसी भी कार्य में किया जाए तो वह अमूमन सफल होता है. यही कारण है कि धनतेरस में कौड़ियों का विशेष महत्व होता है तथा कौड़ियों पर तांत्रिक अनुष्ठान भी किया जाता है आज ही के दिन.

Facebook Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here