Home India क्या भाजपा नेता मुकुल राय की गिरफ्तारी होगी?

क्या भाजपा नेता मुकुल राय की गिरफ्तारी होगी?

607
0

तृणमूल विधायक सत्यजीत विश्वास की हत्या के मामले में भाजपा नेता मुकुल राय समेत पांच लोगों के खिलाफ एफ आई आर दर्ज कराई गई है . इसके साथ ही बंगाल की राजनीति में यह चर्चा गर्म होने लगी है कि क्या मुकुल राय की गिरफ्तारी होगी. एफ आई आर में भाजपा नेता मुकुल राय, अभिजीत पुढारी, सुजीत मंडल, कार्तिक मंडल और कालिदास मंडल के नाम हैं. हंस खाली थाने की पुलिस ने सुजीत मंडल और कार्तिक मंडल को गिरफ्तार कर उन्हें कोर्ट में पेश किया गया , जहां से अदालत ने उन्हें 14 दिनों की पुलिस हिरासत में भेजने का आदेश दिया है . पुलिस ने अभिजीत पुढारी पर गोली मारने का शक जाहिर किया है. अभिजीत पुढारी भाजपा का सक्रिय कार्यकर्ता है. बंगाल में राजनीतिक हिंसा का दौर जारी है. बंगाल में मुख्य रूप से दो पार्टियां सक्रिय हैं. तृणमूल कांग्रेस और भाजपा. इस समय भाजपा प्रदेश में मजबूत स्थिति में है. तृणमूल कांग्रेस और भाजपा की आर-पार की लड़ाई चल रही है. मालूम हो कि कृष्णगंज के तृणमूल विधायक सत्यजीत विश्वास की शनिवार देर रात गोली मार दी गई थी. तृणमूल कांग्रेस ने इसके लिए भाजपा नेता मुकुल राय को जिम्मेदार ठहराया है. उधर भाजपा ने इसे तृणमूल की गुटबाजी का नतीजा बताया है .बताया जाता है कि नदिया जिले के कृष्ण गंज के तृणमूल विधायक सत्यजीत विश्वास अपने साथियों के साथ फूलबाड़ी इलाके में आयोजित एक सरस्वती पूजा के कार्यक्रम में शामिल थे. उनके साथ तृणमूल नेता गौरीशंकर दत्त, लघु उद्योग मंत्री रत्ना घोष समेत कई लोग मौजूद थे. पूजा अनुष्ठान कार्यक्रम समाप्त होने के बाद सभी लोग जाने लगे और मंच पर रह गए विधायक सत्यजीत विश्वास. उसी समय प्वाइंट ब्लैंक रेंज से उनकी कनपटी पर गोली मार दी गई. इस घटना के बाद वहां अफरा-तफरी मच गई. विधायक को तत्काल ही कृष्णा नगर जिला सदर अस्पताल पहुंचाया गया, लेकिन तब तक उनकी मृत्यु हो चुकी थी. सवाल पुलिस पर भी उठने लगा है कि उसने आखिर विधायक की सुरक्षा में कमी क्यों की . विधायक की हत्या क्यों की गई, हालांकि यह जांच का विषय है, लेकिन पुलिस को आरंभिक जांच में यह पता चला है कि उनकी हत्या की साजिश रची गई थी . विधायक हत्याकांड की जांच सीआईडी कर रही है . अब तक की जांच से पता चला है कि विधायक की सुरक्षा ना होने के कारण ही हत्यारे ने आसानी से उनकी हत्या कर दी . यह भी पता चला है कि विधायक और नदिया जिला पार्टी प्रमुख अनुव्रत मंडल के बीच कुछ समय से विवाद चल रहा था. यह भी पता चला है कि तृणमूल के कुछ नेता उनसे ईर्ष्या रख रहे थे . लेकिन जिस तरह से विधायक हत्याकांड पर राजनीति की जा रही है, उससे जांच की दिशा भी भटक सकती है .नदिया जिला तृणमूल कांग्रेस के अध्यक्ष गौरी शंकर दत्त ने इस हत्याकांड के लिए सीधे भाजपा को जिम्मेवार ठहराया है. उन्होंने कहा कि भाजपा नेता मुकुल राय के इशारे पर हत्यारे ने विधायक की जान ली है. जबकि मुकुल राय खुद ही विधायक हत्याकांड की जांच किसी निष्पक्ष एजेंसी से कराए जाने की मांग कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि किसी के खिलाफ एफ आई आर दर्ज होने का यह मतलब नहीं है कि वह अपराधी है. पुलिस को ठोस सबूत चाहिए .इसी की बिना पर गिरफ्तारी होती है. उन्होंने कहा कि पुरुलिया में भाजपा का एक कार्यकर्ता लापता हो गया है. अगर कल उसके पिता ममता बनर्जी पर एफ आई आर दर्ज कराते हैं तो इसका क्या औचित्य होगा .उन्होंने कहा कि कोई किसी के खिलाफ एफ आई आर दर्ज करा सकता है ,लेकिन इसका यह मतलब नहीं कि पुलिस उसे गिरफ्तार करे. प्रदेश भाजपा नेता और राज्य भाजपा के अध्यक्ष दिलीप घोष ने तृणमूल के आरोप को निराधार बताते हुए यहां तक कह दिया कि विधायक हत्याकांड की सीबीआई जांच कराई जाए. .मालूम हो कि नदिया के इस सीमांत इलाके में भाजपा पूरी तरह ताकतवर है . मतवा समुदाय को लेकर भी आए दिन दोनों पार्टियों में संग्राम चलता रहता है . इधर पश्चिम बंगाल राज्य के शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी ने भी मुकुल राय को इसके लिए जिम्मेवार ठहराया है . उन्होंने कहा कि मुकुल राय ने साजिश बिछाकर विधायक सत्यजीत विश्वास की हत्या की है . उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि विधायक सत्यजीत विश्वास की हत्या करने के लिए मुकुल राय ने किराए के गुंडों का सहारा लिया है. लेकिन सवाल यह भी महत्वपूर्ण है कि भाजपा सीबीआई जांच की मांग क्यों कर रही है . तृणमूल कांग्रेस ऐसी मांग क्यों नहीं उठाती ? होना तो यह चाहिए कि जिसने तृणमूल विधायक की हत्या की है , चाहे वह कोई भी हो ,उसको सजा मिलनी चाहिए. ऐसे मामलों में राजनीति नहीं , इंसाफ चाहिए. ताकि सत्यजीत विश्वास के घर वालों को इंसाफ मिल सके . इस बीच मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने पूरे धैर्य का परिचय दिया है. उन्होंने सत्यजीत विश्वास के परिवार से बात की है तथा इस दुख की घड़ी में उनका पूरा साथ देने का भरोसा दिया है.

Facebook Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here