Home India बंद समर्थक का रहा असर,नहीं खुले सरकारी कार्यालय

बंद समर्थक का रहा असर,नहीं खुले सरकारी कार्यालय

477
0

कर्सियांग : पृथक गोरखालैंड राज्य की मांग के आंदोलन को प्रभावशाली बनाने के उद्देश्य से मोर्च  ने सोमवार से बुलाए गए जीटीए क्षेत्र में सरकारी कार्यालय अनिश्चितकालीन बंद दुसरे दिन भी जारी रहा । कुछ एक कार्यालय खुलने के बाद वहां बंद समर्थकों की मौजूदगी से कर्मचारी वापस लौट गए। प्रखंड विकास अधिकारी कार्यालयों में सुबह कर्मचारी अपनी उपस्थिति दर्ज कराने पहुंचे तो बंद समर्थकों ने उन्हें दफ्तरों में प्रवेश नहीं करने दिया। जिसके कारण कर्मचारी उपस्थिति दर्ज नहीं करा सके। कर्सियांग प्रखंड विकास अधिकारी कार्यालय के बाहर दफ्तर खुलने के समय स्थिति तनावपूर्ण और गंभीर थी| खंड बिकास अधिकारी निलांजन मंडल ने कहा कि कुछ कर्मचारी कार्यालय आ गए थे। लेकिन आनेवाले कर्मचारियों को बंद समर्थकों ने खदेड़ दिया। इसी प्रकार पश्चिम बंगाल राज्य विद्युत वितरण कंपनी लिमिटेड, भूमि सुधार, खाद्य व आपूर्ति विभाग सहित कई कार्यालयों में बंदी रही। रेलवे स्टेशन में भी बंद का पूर्ण असर रहा। शहर के एटीएम में भी रुपये निकासी करने वालों की लंबी लाइन लगी रही। वाहनों का चलना भी सामान्य रहा। सरकारी कार्यालयों में भारी पुलिस बल तैनात रहने के बाद भी बंद समर्थक अपना दबाव बनाने में सफल रहे। कर्सियांग महकमा शासक देवाशीस चट्टोपाध्याय जब अपने कार्यालय में पहुंचे। उन्होंने बताया कि यहां कार्यालय में कर्मचारियों की उपस्थिति कम थी। वही जब कर्सियांग थाने के इंस्पेक्टर इंचार्ज दीपंकर सोम ने कहा कि बंद के प्रथम दिन कोई अप्रिय वारदात नहीं हुई। । बंद से आवश्यक सेवा से जुड़े वाहनों को अलग रखा गया है। कालिम्पोंग के अधिकांश कार्यलय भले ही पुलिस प्रशासन के सहयोग में खुले रहे है लेकिन कर्मचारियों की संख्या नही के बराबर रही। जबकि राज्य सरकार ने सभी कर्मचारियों को आवश्यक रूप से कार्यालय आने का आदेश जारी किया था। और कहा था की जो कर्मचारी उपस्थित नही रहेगा उसके खिलाफ फरमान पत्र तैयार किया जायेगा| कालिम्पोंग के जिलाधिकारी का कार्यालय खुला था। बंद समर्थकों के पहुंचने से पहले ही जिलाधिकारी डा. विश्वनाथ पुलिस के सहयोग से कार्यालय आ गए थे। अन्य अधिकारी भी कार्यालय पहुंच गए थे , लेकिन कर्मचारियों के न आने से कामकाज पूरी तरह प्रभावित रहा। पुलिस अधीक्षक अजित सिंह यादव की सहायता से  बंद समर्थकों को सड़क से हटाने पर कुछ देर के लिए हलचल हुआ था। मोर्चा समर्थको ने बंगाल पुलिस मुर्दाबाद के नारे भी लगाये। गोजमुमो के जिला सचिव कुमार चामलिंग ने बंद का समर्थन करने वालों को सफल बनाने पर धन्यवाद दिया।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here