Home India अगर लोकसभा चुनाव में भाजपा हारी, तो ममता ही पीएम बनेंगी ?

अगर लोकसभा चुनाव में भाजपा हारी, तो ममता ही पीएम बनेंगी ?

365
0

शहीद दिवस रैली में ममता ने अपना संकल्प व्यक्त कर दिया है और इशारा भी कि उनकी महत्वाकांक्षा केवल बंगाल तक ही सीमित नहीं है, बल्कि वे बंगाल से निकलकर पूरे देश में राज करने की भी है| तृणमूल सूत्रों से कई बात निकलकर सामने आ रही है| २०१९ लोकसभा चुनाव के लिए तृणमूल की तैयारी पूजा बाद शुरू हो जायेगी| जानकारी मिली है कि 19 जनवरी को कोलकाता में ब्रिगेड परेड ग्राउंड में ममता एक महा रैली करेंगी, जिसमें सभी विपक्षी दलों का चेहरा शामिल होगा| पूजा के बाद ममता पूरे देश में रैली के लिए समर्थन जुटाने दौरा करेंगी| बंगाल में ममता का लक्ष्य सभी ४२ लोकसभा सीटों पर जीत हासिल करनी है| अगर ऐसा होता है और दूसरी ओर भाजपा लोकसभा का चुनाव हार जाती है अथवा बहुमत से काफी दूर रह जाती है, तो इस स्थिति में विपक्ष सरकार बनाने की स्थिति में होगी| विपक्षी चेहरों में सबसे दमदार चेहरा तब ममता का ही होगा, क्योंकि कांग्रेस के बाद तृणमूल ही दूसरे न. की पार्टी होगी| कांग्रेस में राहुल गाँधी पीएम पद के लिए स्वीकार नहीं हैं|ममता ने तो पहले ही यह स्पष्ट कर दिया है| अन्य दलों के प्रमुख भी ममता के साथ दिख रहे हैं और वे राहुल को अपना नेता मानने के लिए कभी तैयार नहीं होंगे| वैसे भी राहुल गाँधी अभी उतने परिपक्व नहीं हुए है| तब लोकसभा में एक मात्र ममता ही वह चेहरा होगा, जिसपर विपक्षी दलों में कोई मतभेद नहीं होगा| अगर संख्या बल को आधार बनाकर पीएम का फैसला होता है, तो कांग्रेस के बाद तृणमूल ही वह पार्टी होगी, जो  दूसरे नम्बर पर होगी| वैसे भी ममता बनर्जी अनुभवी व संघर्षशील महिला हैं| विपक्षी पार्टियों के नेता उन्हें पसंद करते हैं| इस समय ममता सबसे अच्छे सम्बन्ध रख कर चल रही है| उनका ट्रैक रिकॉर्ड भी बढ़िया है| लेकिन ये सब तभी संभव है अगर ममता ने अपने संकल्प को (बंगाल में लोकसभा की सभी ४२ सीट) साबित कर दिखाया|