Home Jalpaiguri भाजपा उम्मीदवार की गिरफ़्तारी के खिलाफ अदालत में प्रदर्शन 

भाजपा उम्मीदवार की गिरफ़्तारी के खिलाफ अदालत में प्रदर्शन 

156
0
जलपाईगुड़ी, 23 अप्रैल। मयनागुड़ी के साप्तिबाड़ी में तृणमूल कांग्रेस समर्थकों पर हमले के आरोप में पुलिस द्वारा भाजपा के मयनागुड़ी पंचायत समिति के उम्मीदवार एंव वरिष्ठ वकील की गिरफ़्तारी के खिलाफ बार एसोसिएशन ने सोमवार को अदालत में विरोध प्रदर्शन करते हुए काम रोको आंदोलन का आह्वान किया। इस दौरान पुलिस एंव बार एसोसिएशन के सदस्यों के बीच धक्कामुक्की होने की खबर है। बार एसोसिएशन के सचिव अभिजीत सरकार ने बताया कि वे कल देर रात वकील की गिरफ़्तारी को लेकर पुलिस के खिलाफ मोर्चा खोलेंगे। गौरतलब है कि तृणमूल कांग्रेस समर्थकों पर हमले के आरोप में पुलिस ने भाजपा के जिला महासचिव अनूप पाल, वकील शिवशंकर दत्त, मंडल अध्यक्ष सुब्रत कर्मकार को गिरफ्तार किया है। वरिष्ठ भाजपा नेता एवं वकील को आज अदालत परिसर में लाये जाने के दौरान भाजपा समर्थकों ने पुलिस के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया। इस दौरन बार एसोसिएशन के वकीलों के बीच धक्कामुक्की होने की भी खबर है। इस घटना को लेकर अदालत परिसर में भारी तनाव देखा गया। इधर, हाई कोर्ट के निर्देश के बाद चुनाव आयोग द्वारा सोमवार को पंचायत चुनाव के लिए नामांकन जमा करने के लिए दिए गए अतिरिक्त दिवस को विपक्षी दलों द्वारा नामांकन जमा नहीं करने देने की बात कही गयी है।  भाजपा के उत्तर बंगाल के सह संयोजक दीपेन प्रमाणिक ने कहा कि जलपाईगुड़ी में सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस के आतंक से विपक्षी दलों के उम्मीदवारों ने नामांकन जमा नहीं किया। उन्होंने सुरक्षा पर लगे पुलिसकर्मियो पर निष्क्रियता का आरोप लगाते हुए इसकी कड़ी आलोचना की। उन्होंने कहा कि जलपाईगुड़ी सदर बीडीओ कार्यालय, मालबाजार समेत पुरे जिले में आज नामांकन जमा देने जाने के दौरान पार्टी उम्मीदवारों ने तृणमूल समर्थित बदमाशों के हाथों घायल हुए हैं। इसके साथ ही सोमवार को भाजपा नेताओं ने पुलिस कर्मियों की निष्क्रियता के खिलाफ एएसपी के समक्ष गुहार लगायी। इसके साथ ही भाजपा कर्मियों ने तृणमूल के आतंक के खिलाफ एंव सुरक्षा की मांग को लेकर कोतवाली थाने भी प्रदर्शन किया। सदर ब्लॉक के पंचायत समिति की उम्मीदवार सोम राय शर्मा आज नामांकन जमा नहीं कर पायी।  उसके पति दुलाल राय के साथ बीडीओ कार्यालय के सामने मारपीट की गयी।  भाजपा के उत्तर बंगाल के सह संयोजक दीपेन प्रामाणिक ने कहा कि उन्होंने इन सब के खिलाफ चुनाव आयोग के समक्ष लिखिल शिकायत दर्ज की है। उन्होंने आरोप लगाया कि पुलिस की मदद से आज तृणमूल समर्थकों ने भाजपा उम्मीदवारों को जिले में कहीं भी नामांकन जमा नहीं करने दिया।