Home Lifestyle क्या धोखा ही है, संसार की नीत

क्या धोखा ही है, संसार की नीत

253
0

बात हम घरों की करे या दफ्तर की, सड़को की या फिर दुकानों की, न जाने क्यों अक्सर देखने को मिलता है की हमेशा लोग एक दुसरे को धोखा देने की कोशिश करते है| दुकानों में जाए तो दुकानदार पक्के बिल न देकर धोखा करता है| घरों में तो भाई-भाई पैसो के लिए एक दुसरे से धोखा करते है| क्या इस प्यारे से संसार में इमानदारी शब्द खो चुकी है?