Home Lifestyle चिकित्सीय लापरवाही के कारण गर्भ में ही बच्चे की मौत

चिकित्सीय लापरवाही के कारण गर्भ में ही बच्चे की मौत

403
0

सिलीगुडी। चिकित्सीय लापरवाही के कारण जन्मजात शिशु की मौत के मामले में जिला अस्पाल के अधीक्षक को एक ज्ञापन सौंपते हुए आरोपी चिकित्सक के खिलाफ कार्रवाई की मांग की गयी है। मृतक नवजात के पिता निखिल मंडल ने अपनी शिकायत में कहा है कि ३ मार्च को वह अपनी पत्नी शांति मंडल को प्रसव के लिए जिला अस्पताल में लेकर आये थे।  प्रसूता को काफी दर्द हो रही थी।  डॉक्टर व नर्स ने कहा कि अभी समय नहीं हुआ है। उन्हें अल्ट्रासोनेग्राफी कराकर लाने को कहा गया। अल्ट्रासोनेग्राफी रिपोर्ट देखने के बाद कहा गया कि बच्चा स्वस्थ है। घबराने की कोई बात नहीं है। ५ मार्च को अचानक प्रसूता को लेकर कहीं और ले जाने को कह दिया गया है। उन्होंने प्रसूता को स्थानीय एक नर्सिंग होम में भर्ती करा दिया। नर्सिंग होम के डॉक्टरों ने जांच करने के बाद कहा कि गर्भ में ही शिशु की मौत हो चुकी है। इसका मतलब यह हुआ कि सदर अस्पताल में ही बच्चे की मौत हो चुकी थी, लेकिन उन्हें जानबूझकर नर्सिंग होम में भेजा गया, ताकि उन्हें भ्रमित किया जा सके। निखिल मंडल ने कहा कि यदि जिला अस्पताल के डॉक्टर व नर्स इस तरह का काम करेंगे तो आम लोगों का क्या होगा, जिनका एकमात्र आधार सरकारी अस्पताल है। उन्होंने आरोपियों स्वास्थ्य कर्मियों के खिलाफ कार्रवाई किये जाने की मांग की है। जिला अस्पताल अधीक्षक अमिताभ मंडल ने मामले की जांच का आश्वासन दिया है।