Home Lifestyle जब डॉ पी. डी. भूटिया ने विमान यात्री की जान बचाई… अचानक...

जब डॉ पी. डी. भूटिया ने विमान यात्री की जान बचाई… अचानक हार्ट अटैक होने पर क्या करें ?

4096
2

यह एक विमान के भीतर का दृश्य है| आज बागडोगरा से पुणे जा रहे इंडिगो 6E3175 विमान ने उड़ान भरी तो यात्रा के क्रम में एक युवा नौसेना अधिकारी कप्तान विशाल गुप्ता को अचानक छाती में दर्द की अनुभूति हुई, तो वे छाती पकड़ कर कराहने लगे| उनके लक्षण बता रहे थे कि उन्हें हार्ट अटैक हुआ है| सिलीगुड़ी के जाने-माने लोकप्रिय डॉक्टर पी.डी. भूटिया भी उसी विमान में सवार थे| मरीज की स्थिति उन्होंने देखी,तो वे समझ गए कि उन्हें हार्ट अटैक हुआ है| इस बीच यात्री को हृदय आघात होने की सूचना क्रू मेंबर्स को दे दी गई थी| आनन-फानन में तात्कालिक चिकित्सा मरीज को दी जाने लगी| विमान में सवार डॉक्टर पी.डी. भूटिया की इंसानियत देखिये, वे मरीज की तत्काल चिकित्सा के लिए उठ खड़े हुए। उन्होंने हृदयआघात में दी जाने वाली तत्कालिक सहायता 300 mg का एस्प्रिन और सॉर्बिट्रेट टेबलेट मरीज को प्रदान किया| साथ ही मरीज की स्थिति की गंभीरता को देखते हुए ऑक्सीजन की व्यवस्था करने के लिए भी कहा| डॉ पी. डी. भूटिया ने विमान के कप्तान से कहा कि मरीज की स्थिति की गंभीरता को देखते हुए विमान को तुरंत ही आसपास के हवाई अड्डे पर लैंड कराना जरूरी है| विमान चालक ने उनकी बात मानते हुए विमान को नजदीकी एयरपोर्ट पटना में लैंड करा दिया| पटना एयरपोर्ट पर विमान 15 मिनट तक रुका रहा| इसके बाद मरीज को एयरपोर्ट मेडिकल टीम के सुपुर्द कर दिया गया| उस समय मरीज की स्थिति स्थिर बनी हुई थी| धीरे-धीरे मरीज की स्थिति में अब सुधार आ रहा है| इस बीच मरीज कप्तान विशाल गुप्ता की स्थिति में काफी सुधार आ गया है। उन्होंने डॉ पी. डी. भूटिया को उनकी जान बचाने के लिए धन्यवाद दिया है।डॉ पी. डी. भूटिया ने कहा कि अगर अचानक किसी को हार्ट अटैक होता है तो मरीज को तात्कालिक सहायता के रूप में 300 mg का एस्प्रिन और सॉर्बिट्रेट टेबलेट दिया जाना चाहिए. यह खून को पतला करता है. डॉ पी. डी. भूटिया की बुद्धिमत्ता व इंसानियत ने एक मरीज को नई जिंदगी दी है.

Facebook Comments

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here