Home Politics महात्मा गाँधी चतुर बनिया थे – अमित शाह

महात्मा गाँधी चतुर बनिया थे – अमित शाह

571
0
amit shah statement

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने छत्तीसगढ़ के रायपुर में पार्टी कार्यकर्ताओं के सामने राज्य विधानसभा चुनाव में 65 सीटें जीतने का लक्ष्य रखा है। एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए अमित शाह ने कांग्रेस का जिक्र किया जिसमें उन्होंने महात्मा गांधी को एक ‘चतुर’ बनिया बताया। अमित शाह ने कहा, ‘कांग्रेस किसी एक विचारधारा के आधार पर किसी एक सिद्धांत के आधार पर बनी हुई पार्टी ही नहीं है, वह आजादी प्राप्त करने का एक स्पेशल पर्पज व्हीकल है, आजादी प्राप्त करने का एक साधन था और इसलिए महात्मा गांधी ने दूरदर्शी के साथ, बहुत चतुर बनिया था वो, उसको मालूम था कि आगे क्या होने वाला है, उसने आजादी के बाद तुरंत कहा था, कांग्रेस को बिखेर देना चाहिए। अमित शाह ने कहा कि महात्मा गांधी ने कांग्रेस को खत्म करने का काम नहीं किया, लेकिन अब कुछ लोग उसको बिखेरने का काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा इसीलिए महात्मा गांधी ने कहा था कि कांग्रेस की कोई विचारधारा ही नहीं है, देश चलाने के, सरकार चलाने के कोई सिद्धांत ही नहीं थे। राजधानी के मेडिकल कॉलेज प्रेक्षागृह में शाह ने कहा कि दुनिया की सबसे बड़ी राजनीतिक पार्टी होने का दावा करने वाली भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष का कहना है कि पार्टी में आंतरिक लोकतंत्र है, इसीलिए एक साधारण चाय बेचने वाला देश का प्रधानमंत्री है और एक सामान्य कार्यकर्ता राष्ट्रीय अध्यक्ष। भाजपा (जनसंघ) का उदय राष्ट्रवाद के सिद्धांत पर हुआ है। यही वजह है कि हमारे लिए देश सर्वोपरि है। देश के बाद पार्टी और अंत में व्यक्ति है। हमारी आर्थिक नीति का आधार अंत्योदय है। पार्टी मानती है कि अंतिम पंक्ति में बैठे व्यक्ति का जब विकास होगा, तभी देश विकास करेगा। दिल्ली विश्वविद्यालय में लगे देश विरोधी नारों का जिक्र करते हुए शाह ने कहा कि पार्टी की स्पष्ट सोच है कि जो देश के खिलाफ नारे लगाएगा, वह देश द्रोही कहलाएगा। पार्टी के चरित्र पर शाह ने कहा कि भाजपा शासित राज्य तेजी से विकास कर रहे हैं। यह कहने की बात नहीं है, आंकड़े उपलब्ध हैं, कोई भी इसका परीक्षण कर सकता है।

 

Facebook Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here