Home India मोदी फिर से प्रधानमंत्री बन सकेंगे !

मोदी फिर से प्रधानमंत्री बन सकेंगे !

242
0
PM

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 2019 के लोकसभा चुनाव में कितना सफल होते हैं, यह तो आने वाला वक्त ही बताएगा, लेकिन यह सच है कि प्रधानमंत्री ने एक बार फिर से 5 साल शासन करने के लिए मेहनत शुरू कर दी है .उन्होंने पूर्वोत्तर के राज्यों तथा दक्षिण के राज्यों पर अपनी पार्टी की जड़ मजबूत करने के प्रयास शुरू कर दिए हैं. प्रधानमंत्री के द्वारा पूर्वोत्तर के दौरे के बाद दक्षिण का दौरा काफी महत्वपूर्ण कहा जा सकता है. रविवार को प्रधानमंत्री ने दक्षिण के राज्यों का दौरा किया था .पिछले 4 दिनों में उन्होंने नॉर्थ ईस्ट तथा दक्षिण के राज्यों में कई बड़ी रैलियां की हैं. आखिर प्रधानमंत्री दक्षिण व पूर्वोत्तर राज्यों में इतना जोर क्यों लगा रहे हैं. जानकार बताते हैं कि उत्तर प्रदेश में सपा और बसपा का गठबंधन होने के बाद वहां भाजपा का खेल बिगड़ गया है. उत्तर प्रदेश में लोकसभा की 80 सीटें हैं .पिछले लोकसभा चुनाव में भाजपा ने अपने सहयोगी दलों के साथ 79 सीटें जीती थी. लेकिन इस बार हालात ऐसे नहीं हैं. सपा बसपा गठबंधन और उत्तर प्रदेश में प्रियंका के आने के बाद अनुमान लगाया जा रहा है कि भाजपा यहां से 20 से 25 सीटें ही जीत पाएगी. हालांकि दक्षिण व मध्य राज्यों में भाजपा को काफी उम्मीदें हैं, खासकर कर्नाटक में भाजपा को 10 से 15 सीटें जीतने का अनुमान है. लेकिन पूर्वोत्तर में सबसे ज्यादा उम्मीद है. पूर्वोत्तर की 23 सीटों पर भाजपा की नजर है. पश्चिम बंगाल में लोकसभा की 42 सीटें हैं. भाजपा यहां भी जोर लगा रही है और जिस तरह से पश्चिम बंगाल में भाजपा लगातार आगे बढ़ रही है, ऐसे में पार्टी को यहां से अपेक्षित सीटें मिलने का भरोसा है. पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने बंगाल में कम से कम 22 सीट जीतने का लक्ष्य रखा है. इसके लिए भाजपा काफी जोर लगा रही है. 1 हफ्ते में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी यहां तीन-तीन रैलियां कर चुके हैं. पूर्वोत्तर के राज्यों असम, मेघालय ,अरुणाचल प्रदेश, त्रिपुरा आदि ऐसे राज्य हैं ,जहां भाजपा काफी मजबूत स्थिति में है .इन राज्यों में भाजपा अपने सहयोगी दलों के साथ मजबूत स्थिति में है . इसी तरह जम्मू-कश्मीर में भाजपा की अच्छी स्थिति है. अगर आज चुनाव हुए तो दिल्ली में भाजपा सभी सीटें जीत सकती है . हरियाणा व पंजाब में भी नरेंद्र मोदी के नाम पर वोट मिल सकता है. प्रधानमंत्री को आशा है कि उत्तर प्रदेश में पार्टी को जो हानि होगी, उसकी पूर्ति पश्चिम बंगाल, पूर्वोत्तर के राज्यों तथा दक्षिण से हो जाएगी. इसीलिए प्रधानमंत्री इन राज्यों पर नजर जमाए हुए हैं और काफी जोर लगा रहे हैं . अगर प्रधानमंत्री का आकलन सही साबित हुआ तो 2019 लोकसभा चुनाव में नरेंद्र मोदी को फिर से 5 साल का अवसर मिल सकता है.

Facebook Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here