Home Uncategorized पत्नी को आत्महत्या के लिए उकसाने के जुर्म में पति को सात साल...

पत्नी को आत्महत्या के लिए उकसाने के जुर्म में पति को सात साल का कारावास 

262
0

पत्नी को आत्महत्या के लिए उकसाने के जुर्म में जलपाईगुड़ी अदालत ने एक व्यक्ति को सात साल के कारावास की सजा सुनाई है।  अदालत सूत्रों के अनुसार  सजायाफ्ता व्यक्ति का नाम रतन राय है।  वह सिलीगुड़ी से सटे जलपाईगुड़ी जिले के भक्तिनगर थानांतर्गत दक्षिण शांतिनगर का रहनेवाला है। बताया जाता है कि रतन अपनी पत्नी पर नियमित रुप से अत्याचार करता था।  2012 में घर में गाय रखने के लिए बनायीं गयी जगह में उसकी पत्नी कल्पना देवी का फंदे से लटकता शव बरामद किया गया।  कल्पना देवी के भाई ने अपनी बहन की गला दबाकर हत्या करने के बाद  उसका शव फंदे से लटकाने का आरोप लगाते हुए भक्तिनगर थाने में मामला दायर किया था। पुलिस ने कल्पना के पति रतन राय एवं उसकी माँ को गिरफ्तार कर आगे की जाँच शुरू की।  बाद में उसकी माँ जमानत पर रिहा हो गयी।  हालाँकि रतन को जेल में ही रखा गया।  करीब सात साल बाद सोमवार को जलपाईगुड़ी अदालत ने घटना  साक्ष्य एंव 19 गवाहों की दलीले सुनने के बाद रतन राय को पत्नी  आत्महत्या के लिए उकसाने दोषी करार दिया जबकि उसकी माँ को  निर्दोष करार देते हुए रिहा कर दिया। गुरुवार को अदालत ने रतन राय को  सात साल की जेल की सजा सुनाई। इसके साथ ही अदालत ने उसे 5000 रूपये जुरमाना भरने का भी हुक्म दिया। जुर्माने की रकम अदा  नहीं करने पर उसे छह महीने की अतिरिक्त सजा काटनी होगी। सरकारी वकील तपन भट्टाचार्य ने बताया कि सजायाफ्ता व्यक्ति पहले ही छह साल सात महीने जेल में बिता चूका है| लिहाजा यह अवधी उसकी सजा से कम हो जाएगी।

 

 

 

Facebook Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here