Home Alipurduar उत्तर बंगाल बाढ़ में डूबा, जनजीवन अस्त-व्यस्त, रेल परिसेवा ठप

उत्तर बंगाल बाढ़ में डूबा, जनजीवन अस्त-व्यस्त, रेल परिसेवा ठप

368
0
Damaged by Flood
Damaged by Flood

बाढ़ ने पुरे उत्तर बंगाल के जनजीवन को अस्त-व्यस्त कर दिया है. पश्चिम बंगाल के विभिन्न जिलों में बाढ़ ने तबाही मचाकर रख दी है. परिवहन से लेकर रेल सेवा पूरी तरह से ठप हो गई है. पूर्वोत्तर सीमान्त रेल परिसेवा कब सुचारू होगी, कुछ काहा नहीं जा सकता है. पिछले चार-पांच दिनों से एनजेपी व सिलीगुड़ी जंक्शन की रेलवे पटरियां पानी में डूबी हुई है. पूर्वोत्तर सीमान्त रेलवे ने लगभग सभी ट्रेनों को स्थगित कर दिया गया है. प्राकृतिक आपदा के कारण जहाँ-तहां ट्रेनें फंसी हुई है. लोग अपने गंतव्य तक पहुंच नहीं पा रहे हैं.

ऐसे में विमान कंपनियों ने रमरमा कारोबार जमा लिया है. कोलकाता व दिल्ली की फ्लाइटो की टिकट मनमर्जी रेट पर बेचा जा रहा है. टिकटों की मूल्य में बेतहाशा बढोतरी कर दी गई है.

दूसरी ओर, एनबीएसटीसी ने जलपाईगुड़ी से कोलकाता के लिए अस्थाई रूप से बस सेवा चालू की है. डेली दो बस यहाँ से छोड़ी जा रही है. इससे लोगों को थोड़ी राहत मिली है.

बाढ़ से मरनेवालों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है. उत्तर बंगाल की विभिन्न नदियाँ उफनाई हुई है. तीस्ता नदी समेत अन्य नदियों का तट कटाव जारी है. एक के बाद एक बाँध टूट रहे है. विभिन्न जिला व ब्लाक प्रशासन राहत व बचाव कार्य में जुटा हुआ है. आपदा कर्मी भी स्पीड बोट लेकर राहत व बचाव कार्य में दिनरात एक किये हुए हैं.

बाढ़ ने उत्तर बंगाल के व्यवसाय को भी चौपट कर रख दिया है. फसलों की बर्बादी के चलते सब्जी महंगी हो गई है. बाहर से सब्जी नहीं आ रही है.

उत्तर बंगाल के रायगंज, बालुरघाट व मालदा में बाढ़ ने भीषण तबाही मचाई. सैकड़ों गाँव बाढ़ में डूब गए है. लाखों लोग पानी में फसें हुए हैं. सिर्फ उत्तर बंगाल ही नहीं पश्चिम बंगाल, बिहार, उत्तर प्रदेश, असम व गुजरात में भी बाढ़ ने त्राहि मचा दी है.