February 3, 2023
Sevoke Road, Siliguri
Uncategorized

उत्तर बंगाल में रेल सुविधाओं के लिए केंद्र को क्रेडिट देने को तैयार नहीं मेयर गौतम देव!

आज बहुप्रतीक्षित वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन का प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी मां की अर्थी को कंधा देने के बाद उत्पन्न बेहद भावुक क्षण में स्वयं को संभालते हुए उद्घाटन कर दिया. राष्ट्र सर्वोपरि है. जीवन और मौत तो कुदरती है लेकिन राष्ट्र का विकास तो मनुष्य के हाथ में है. यह उन्होंने आज साबित कर दिया.

वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन का उद्घाटन वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया था. उक्त कार्यक्रम देखने के लिए सिलीगुड़ी और कोलकाता में विशेष शिविर लगाए गए थे.

सिलीगुड़ी में आयोजित बोर्ड मीटिंग के एक कार्यक्रम में सिलीगुड़ी नगर निगम के मेयर गौतम देव, डिप्टी मेयर रंजन सरकार, एमआईसी कमल अग्रवाल, दुलाल दत्ता, भाजपा पार्षद व अन्य सम्मिलित हुए थे. इसी बीच भाजपा पार्षद विवेक सिंह ने वंदे भारत शुरू करने के लिए प्रधानमंत्री का आभार जताने के लिए ताली बजाने की बात कही तो, सिलीगुड़ी नगर निगम के मेयर गौतम देव ने अपने बयानों से जाहिर किया कि इसमें ताली बजाने जैसी कोई बात ही नहीं है. मेयर गौतम देव ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के ड्रीम प्रोजेक्ट की बात करते हुए एनजेपी स्टेशन से चलने वाली गाड़ियों की उपलब्धि का श्रेय उन्हें यानी ममता बनर्जी को दे दिया.

गौतम देव ने कहा कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का यह ड्रीम प्रोजेक्ट है.जब ममता बनर्जी रेल मंत्री थी, तब उन्होंने सिलीगुड़ी और कोलकाता को जोड़ने के लिए कई रेलगाड़ियों को यहां चलाया और यहां के लोगों के आवागमन को सरल बना दिया. उन्होंने कहा कि पदातिक एक्सप्रेस, कंचन कन्या, तीस्ता तोरसा, दार्जिलिंग मेल आदि कई रेलगाड़ियां उत्तर बंगाल के लोगों के लिए काफी पहले से ही चल रही है. इसका श्रेय मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को जाता है. जब ममता बनर्जी रेल मंत्री थी तब उन्होंने यहां के लोगों की सुख सुविधा का ख्याल रखते हुए कोलकाता और सिलीगुड़ी की यात्रा को सरल बना दिया था.

गौतम देव ने कहा कि पूरे उत्तर बंगाल में एनजेपी स्टेशन का काफी महत्व है. लेकिन भाजपा सरकार में एनजेपी स्टेशन के वजूद को ही खतरा पहुंच रहा है. कोलकाता और एनजेपी के बीच चलने वाली कई रेलगाड़ियां एनजेपी स्टेशन से आगे नहीं जाती थी. यहां के लोगों को काफी सुविधा होती थी. मगर धीरे-धीरे भाजपा सरकार में पहले से चल रही रेलगाड़ियों को न्यू जलपाईगुड़ी स्टेशन से आगे ले जाया जाता रहा. इनमें पदातिक एक्सप्रेस, कंचन कन्या, तीस्ता तोरसा और हाल ही में दार्जिलिंग मेल शामिल है, जिसे अब हल्दीबाडी तक बढा दिया गया है.

इससे पहले मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी बंदे भारत के आयोजित कार्यक्रम में यह बात कही थी कि सिलीगुड़ी और कोलकाता के बीच चलने वाली कई रेल परियोजनाएं उनके रेल मंत्री के कार्यकाल में शुरू हुई थी. मेयर गौतम देव ने बोर्ड मीटिंग में मुख्यमंत्री की बातों को ही दोहराया और कहा कि एनजेपी स्टेशन का दार्जिलिंग मेल से गहरा नाता रहा है. दार्जिलिंग मेल का आखिरी ठहराव एनजेपी स्टेशन पर ही रहा है और दार्जिलिंग मेल की यही पहचान है. परंतु भाजपा सरकार ने दार्जिलिंग मेल और एनजेपी स्टेशन दोनों की ही उपेक्षा की है.

बताते चलें कि आज ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एनजेपी स्टेशन के पूर्ण विकास की आधारशिला रखी है. इस कार्यक्रम में दार्जिलिंग के भाजपा सांसद राजू बिष्ट तथा अन्य भाजपा सांसद उपस्थित थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *