February 5, 2023
Sevoke Road, Siliguri
Uncategorized

कम समय में आपका पैसा कैसे डबल होगा!

डबल पैसा और बेहतर रिटर्न पाना हर इन्वेस्टर की ख्वाहिश रहती है. लोग भविष्य की योजनाओं को मूर्त रूप देने के लिए आज से बचत करना शुरू कर देते हैं. आमतौर पर एक व्यक्ति बैंक में आरडी अकाउंट खुलवाता है या फिर छोटी बड़ी बैंक अथवा पोस्ट ऑफिस या फिर जीवन बीमा बचत योजनाओं में इन्वेस्ट करता है. लेकिन यह कोई बेहतर रिटायरमेंट प्लान नहीं है और ना ही इससे आपका पैसा डबल हो सकता है. ऐसी योजनाओं में जब आपका पैसा डबल होने को आएगा, तब तक महंगाई उसके हिसाब से कई गुनी बढ जाएगी. ऐसे में डबल पैसे कमाकर भी इन्वेस्टर के हाथ कुछ नहीं लगता!

बुधवार को खबर समय के दफ्तर में सिलीगुड़ी के जाने-माने फाइनेंसियल एडवाइजर अमित राठी ने एक सेमिनार किया, जिसमें खबर समय की टीम के अलावा अन्य गिने-चुने लोग उपस्थित थे. अमित राठी ने अपने अनुभव व ज्ञान को वैज्ञानिकता की कसौटी पर कसते हुए अपनी बात प्रायोगिक रूप से रखी और यह बताया कि किस तरह से लोग बचत करें कि रिटायरमेंट के बाद उन्हें शेष जीवन बिताने में कोई कठिनाई ना हो.

सेमिनार में बोलते हुए अमित राठी ने पैसे की आवश्यकता तथा पैसे की बचत करने के विभिन्न फॉर्मूलो पर प्रकाश डाला. उन्होंने तथ्यात्मक रूप से समझाया कि किस तरह से बैंक एफडी अथवा दूसरी बचत योजनाओं से प्राप्त ब्याज की रकम से निवेशक को कोई लाभ नहीं होता. लेकिन अगर यही बचत और पैसा म्यूच्यूअल फंड के जरिए कमाया जाए तो निवेशक मालामाल हो सकता है. उन्होंने इस तरह के कई उदाहरण भी रखे, जहां बैंक एफडी अथवा दूसरी बचत योजनाओं के मुकाबले म्यूच्यूअल फंड बदलते समय में महंगाई पर नियंत्रण रखते हुए इन्वेस्टर को मालामाल करने में सर्वश्रेष्ठ हैं.

महंगाई के इस युग में पैसे कमाने और भविष्य के लिए पूंजी जुटाने के लिए व्यक्ति को स्मार्ट होना जरूरी है. इसके साथ ही उसे फंड का सही सदुपयोग करने की कला भी आनी चाहिए. तभी ऐसा व्यक्ति भविष्य के लिए एक अच्छी खासी पूंजी जुटा सकता है. अमित राठी ने म्यूच्यूअल फंड का उदाहरण देते हुए कहा कि इसके जरिए बैंक अथवा दूसरी सरकारी बचत योजनाओं के मुकाबले आपका पैसा कम समय में डबल हो सकता है. उन्होंने कहा कि निवेशक को लॉन्ग टर्म के लिए इक्विटी फंड में निवेश का चुनाव करना चाहिए. कई ऐसे फंड हैं, जहां निवेशक को 20 -22% तक रिटर्न मिला है और निवेशक का पैसा कम समय में डबल हुआ है.

अमित राठी ने सेविंग और निवेश में अंतर को समझाते हुए इस बात पर बल दिया कि हर व्यक्ति को अपने पैसे का सही जगह पर इस्तेमाल करने की कला आनी चाहिए. अगर आप नौकरी पेशा है तो एसआईपी के माध्यम से म्यूचुअल फंड में दीर्घावधि के लिए निवेश करें. अगर आप नए हैं तो फंड का चुनाव करने में किसी विशेषज्ञ की मदद ले. अगर आप नियमित रूप से एसआईपी के जरिए इन्वेस्ट करते रहें, तो रिटायरमेंट के समय तक आपके पास इतना पैसा होगा कि आपका शेष जीवन मजे में कटेगा. उन्होंने वैज्ञानिक तरीके से एक रुपए का उदाहरण देते हुए 30 दिनों में करोड़ों के रिटर्न का फार्मूला रखकर सभी को चमत्कृत कर दिया!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *