June 13, 2024
Sevoke Road, Siliguri
Uncategorized

जयगांव के दिन फिरने जा रहे!

भारत भूटान सीमा पर स्थित जयगांव शहर की खूबसूरती फिर से निखरने वाली है. यहां के लोगों की उदासी दूर होने वाली है. जय गांव के व्यापारी, श्रमिक सभी के चेहरे पर मुस्कान खिलने वाली है. फिर से यहां के दुकानदार अपनी दुकान लगाएंगे और एक बार फिर से वही चहल-पहल यहां देखने को मिल सकती है जो किसी समय जयगांव की पहचान थी.

कहते हैं कि समय सदा एक सा नहीं रहता. रात और दिन प्रकृति का नियम है. दुख के बाद सुख और सुख के बाद दुख यही जीवन चक्र है. कोरोना काल में जयगांव ने काफी कुछ झेला है. पलायन से लेकर भुखमरी और मातम से दो चार जयगांव के दिन अब फिरने जा रहे हैं! भारत और भूटान के लोगों की आवाजाही में बाधक यहां का चाइनीज लाइन गेट अब खुलने जा रहा है, जिसे भूटान ने कोरोना काल के समय बंद कर रखा था.

भारत और भूटान के बॉर्डर पर स्थित जयगांव शहर का वजूद मुख्य रूप से भूटान गेट और चाइनीज लाइन गेट पर निर्भर करता है. भूटान गेट तो कुछ समय पहले खुल चुका है. परंतु चाइनीज लाइन गेट अभी तक बंद है. चाइनीज लाइन गेट से एक रास्ता फूछोलिंग की तरफ जाता है, जहां से काफी संख्या में लोग जयगांव व्यापार और खरीददारी के लिए आते हैं. चाइनीज लाइन गेट के पास ही अनेक दुकानें स्थित हैं, जो वर्तमान में लगभग बंद दिख रही हैं या फिर उनमें कोई रौनक भी नहीं है. यहां भूटान ने एक दीवार खड़ी कर दी है जिससे भूटान जाने का रास्ता बंद हो गया है.

काफी समय से चाइनीज लाइन गेट खोले जाने की मांग जयगांव के व्यापारी और कारोबारी करते आ रहे हैं. इस संबंध में भूटान सरकार को कई बार इत्तला भी किया गया. अब भूटान सरकार चाइनीज लाइन गेट खोलने पर विचार कर रही है. तृणमूल कांग्रेस के अलीपुरद्वार जिला अध्यक्ष प्रकाश चिक बराईक के बयान से ऐसा लगता है कि भूटान सरकार ने चाइनीज लाइन गेट खोले जाने की सहमति व्यक्त कर दी है. इस सूचना के वायरल होने के साथ ही जय गांव के लोगों में खुशी व्याप्त हो गई है.

जय गांव के छोटे से लेकर बड़े व्यापारी, दुकानदार, श्रमिक, नौजवान,बच्चे, बूढ़े सभी खुश दिख रहे हैं. उनकी आंखों में फिर से सपने पलने लगे हैं. उन्हें लगता है कि जल्द ही उनके जीवन में बहार लौट आएगी. जय गांव के लोगों की समस्याओं को देखते हुए कुछ दिन पहले भूटान प्रशासन को एक पत्र भेजा गया था जिसमें चाइनीज लाइन गेट फिर से खोले जाने की अपील की गई थी. भूटान प्रशासन की ओर से इस पर सकारात्मक प्रतिक्रिया सामने आई है.

यहां के लोग उम्मीद कर रहे हैं कि बहुत जल्द भूटान सरकार चाइनीज लाइन गेट खोल देगी. जिससे जय गांव की हलचल बढेगी और एक बार फिर से जय गांव के पुराने दिन लौट आएंगे. अगर यह गेट खुलता है तो जयगांव एक और दो नंबर इलाके के लोगों को विशेष लाभ होगा. साथ ही फूछोलिंग के लोगों को भी लाभ होने वाला है. अब समय आ गया है कि भूटान और भारत दोनों ही कोरोना काल की बंदिशों का एक-एक करके खात्मा करें ताकि दोनों ही देशों के बीच विकास और व्यापार के क्षेत्र में नई क्रांति आए. इस समय भूटान की ओर से कई तरह की बंदिश लगाई गई है. उन बंदिशों को भी दूर करने की आवश्यकता है. अब देखना है कि चाइनीज लाइन गेट कब खुलता है!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *