February 5, 2023
Sevoke Road, Siliguri
Uncategorized

फूलों से नित हंसना सीखो तितलियों से गाना…!

नया साल आने वाला है. क्रिसमस से ही नए साल का जश्न शुरू हो जाता है. सिलीगुड़ी और आसपास के इलाकों में रहने वाले लोग नए साल पर पिकनिक का कार्यक्रम करने के लिए निकट के पर्यटक स्थलों पर जाते हैं. यूं तो सिलीगुड़ी, जलपाईगुड़ी और Dooars के इलाके में अनेक पर्यटक स्थल हैं,जहां लोगों का भरपूर मनोरंजन होता है. परंतु उनमें एक पर्यटक स्थल ऐसा भी है, जहां पिकनिक मनाने वाले प्रकृति और रंग बिरंगी तितलियों का दीदार करते हुए भरपूर एंजॉय करते हैं.

अलीपुरद्वार जिले के अंतर्गत कालचीनी प्रखंड के राजाभातखावा तितली पार्क का नाम आपने सुना होगा. यह वर्तमान में पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र बन चुका है. यहां तितलियों के सैकड़ो किस्म की प्रजातियां देखने को मिल सकती हैं.सूत्रों ने बताया कि यहां 132 प्रकार की तितलियां मिल जाती हैं. मजे की बात तो यह है कि यहां तितलियां स्वतंत्र रूप से भ्रमण करती हैं. तितलियों के लिए यहां का वातावरण काफी रुचिकर है. इसलिए यहां बाहर से भी कई तितलियां आती रहती हैं और यहीं की होकर रह जाती हैं.

हालांकि तितली पार्क में ज्यादातर छात्र और अध्ययन करने वाले आते हैं, जो तितलियों पर शोध करते हैं. परंतु प्रकृति प्रेमी पर्यटक भी तितलियों से बहुत कुछ सीख लेते हैं. अगर आप यहां तितली पार्क में आते हैं तो तितलियों से मन बहलाव कर सकते हैं. लेकिन तितलियों को स्पर्श करना मना है. हालांकि फोटोग्राफी करने की अनुमति है.

इस पार्क में तितलियों के अलावा पक्षी और पेड़ पौधे हैं जो पिकनिक मनाने वालों को खूब इंजॉय करते हैं. यही कारण है कि राजाभातखावा तितली पार्क इन दिनों सुर्खियों में है. सरकार ने नए साल पर पर्यटकों की अधिकता का अनुमान लगाते हुए तितली पार्क को नए सिरे से सजाया है. तितली पार्क का जीर्णोद्धार होने से यह लोगों के आकर्षण का केंद्र बन गया है. अतः आप नए साल पर पिकनिक का प्रोग्राम बना रहे हैं और कोई पर्यटक स्थल का चयन करना चाहते हैं तो एक बार तितली पार्क में जरूर आएं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *