July 14, 2024
Sevoke Road, Siliguri
Uncategorized

फेसबुक व इंस्टाग्राम पर चल रहे विज्ञापन से रहें सावधान!

सोशल मीडिया के इस युग में बच्चे से लेकर बड़े तक सभी फेसबुक, इंस्टाग्राम से जुड़े हुए हैं. इसका लाभ साइबर अपराधी उठा रहे हैं. सोशल मीडिया में पल भर में ही खबरें देश और विदेश में वायरल हो जाती है. केवाईसी अथवा अन्य तरीके से लोगों को ठगते आ रहे साइबर अपराधी अब भ्रामक विज्ञापन के जरिए लोगों को ठगने में जुट गए हैं.

सिलीगुड़ी के रहने वाले अनिल सिंह (कल्पित नाम) फेसबुक और इंस्टाग्राम पर काफी एक्टिव रहते हैं. कुछ समय पहले इंस्टाग्राम पर पोस्ट करते समय उनकी नजर एक विज्ञापन पर गई. विज्ञापन में प्रतिदिन ₹5000 कमाने की बात की गई थी. उन्होंने विज्ञापन में दिए गए नंबर पर फोन किया और उसके बाद जो हुआ, उसे अनिल सिंह बताना नहीं चाहते हैं. इसलिए कि लोग कहीं उनका मजाक ना उड़ाने लगे. सब कुछ तेजी से घटित हुआ. अनिल सिंह को संभलने का भी मौका नहीं मिला. गनीमत यह रही कि उनके थोड़े पैसे ही कटे. शर्म और झिझक के चलते उन्होंने यह बात किसी को नहीं बताई…

अनिल सिंह की घटना से सबक लेने की जरूरत है. अगर आप फेसबुक और इंस्टाग्राम पर एक्टिव रहते हैं तो अनेक ऐसे विज्ञापन भी आते हैं जो किसी खास प्रोडक्ट अथवा नौकरी,पार्ट टाइम रोजगार इत्यादि के होते हैं. कई लोग नौकरी तो करते हैं,परंतु वे चाहते हैं कि अधिक कमाई के लिए पार्ट टाइम भी काम करें और यहीं वे फंस जाते हैं. इसी तरह से प्रोडक्ट के लिए आए विज्ञापन काफी लुभावने होते हैं. लालच में आकर लोग ऐसे विज्ञापनों को रिस्पांस करने लगते हैं. यहीं से उनकी मुसीबत शुरू हो जाती है.

सूत्र बताते हैं कि साइबर ठग सोशल मीडिया पर फर्जी विज्ञापन दे रहे हैं. वह कुछ इस तरह से विज्ञापन डिजाइन करते हैं ताकि लोग उसमें फंस जाएं. कुछ विज्ञापन तो ऐसे होते हैं जिसमें पढ़े-लिखे लोग भी उलझ कर रह जाते हैं. ऐसे पोस्ट और विज्ञापन को अनदेखा कर दें.

मोबाइल पर एस एम एस आना तो पुरानी घटना हो गई. अब तो साइबर अपराधी गलत प्रोफाइल और गलत डिजाइन के साथ-साथ कुछ मामलों में आपकी प्रोफाइल में ही विज्ञापन फिट कर देते हैं. जरा सा क्लिक करते ही आप उसमें फंस कर रह जाएंगे. उनसे बात करें तो ऐसा लगेगा जैसे वह भी आपकी तरह सताए हुए हैं और अपना सपना पूरा करना चाहते हैं.

कोलकाता में तो ऐसी घटनाओं की बात सी आ गई है. सिलीगुड़ी में भी आए दिन ऐसी घटनाएं सुर्खियों में रहती ही है. सिलीगुड़ी मेट्रोपॉलिटन पुलिस और साइबर सेल लगातार लोगों को जागरूक कर रहे हैं,लेकिन इन सबके बावजूद लोग साइबर ठगों के जाल में फंसते जा रहे हैं.

जिस तरह पुलिस और कानून के हाथ लंबे होते हैं, उसी तरह से साइबर अपराधियों के भी हाथ लंबे होते हैं. उन्हीं लोगों को अपना निशाना बनाते हैं जो पैसे वाले अथवा नौकरी पेशा होते हैं. हालांकि पुलिस की तरफ से लगातार कार्रवाई की जाती है, लेकिन कई मामले ऐसे होते हैं जहां पीड़ित व्यक्ति अपनी जग ह॔साई से बचने के लिए साइबर सेल से संपर्क ही नहीं कर पाता और ना ही शिकायत दर्ज कराता है. साइबर ठग ऐसे लोगों को ज्यादा शिकार बनाते हैं. ऐसे लोगों के बारे में साइबर अपराधियों को अपने सूत्रों से जानकारी मिल जाती है.इसलिए भलाई इसी में है कि आप ऐसे विज्ञापनों को इग्नोर कर दें और किसी भी लालच में ना आए.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *