July 14, 2024
Sevoke Road, Siliguri
Uncategorized

ममता बनर्जी के दौरे से 24 घंटे पहले घटी हृदय विदारक घटना! नाबालिग स्कूली छात्रा का किसने काटा सिर?

चुनाव तो अभी शुरू नहीं हुआ है. लेकिन उससे पहले पश्चिम बंगाल के विभिन्न क्षेत्रों में खूनी रक्तपात शुरू हो चुका है.मुख्यमंत्री ममता बनर्जी उत्तर बंगाल समेत पूरे बंगाल में अपनी सरकार की उपलब्धियां गिना रही है, तो दूसरी तरफ राज्य में अपराध और अपराधियों का मनोबल बढ़ रहा है. इसकी ताजा बानगी मालदा में देखी गई है.

.मालदा के बारे में कहा जाता है कि पूरे बंगाल में आपराधिक वारदातें यहां अधिक होती हैं. ऐसा कोई भी दिन नहीं बीतता, जब मालदा के विभिन्न क्षेत्रों से कोई ना कोई हत्या या ऐसे गंभीर अपराध होते नहीं हो. मालदा जिला पड़ोसी राज्यों झारखंड, बिहार और बांग्लादेश से सटा हुआ है. यही कारण है कि इस जिले में आपराधिक घटनाएं ज्यादा होती हैं. अपराधी अपराध करने के बाद पड़ोसी राज्यों अथवा बांग्लादेश में छिपने का आश्रय तलाश लेते हैं. यही कारण है कि पुलिस भी कई मामलों में अपराधियों को तलाश नहीं कर पाती.

जैसे इस समय मालदा पुलिस एक ऐसी बालिका के शव को अंजाम पहुंचाने वाले अपराधी या अपराधियों की तलाश करने में जुटी है, जिसने स्कूल जाने वाली एक नाबालिग बालिका का सिर काटकर उसके धर को कहीं दूर फेंक दिया था. पुलिस ने बालिका का धर तो बरामद कर लिया है. लेकिन सिर अभी भी गायब है. बालिका का सिर कहां है, मालदा पुलिस को उस व्यक्ति की तलाश है, जिसने बालिका के सिर को कहीं छुपा रखा है.

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का बंगाल में दौरा था. इससे ठीक 24 घंटे पहले ऐसी वारदात हुई कि लोगों के रोंगटे खड़े हो गए हैं. हालांकि पुलिस ने बालिका के शव की शिनाख्त कर ली है. लेकिन अभी तक अपराधी फरार है. अपराधी की तलाश में पुलिस सीसीटीवी फुटेज का सहारा ले रही है. यह घटना मालदा के इंग्लिश बाजार इलाके की है. आम बाजार उत्तरी बलुचार इलाके से पुलिस ने एक सिर कटा बालिका का शव बरामद किया था, जिसकी शिनाख्त मृतका के चाचा ने की.

मृतका के चाचा ने आरोप लगाया है कि जिसने उनकी भतीजी का यह हाल किया है, वह कोई व्यवसायिक व्यक्ति है. जैसे ही यह खबर आम बाजार में आम हुई, वैसे ही यहां के लोगों ने आरोपी व्यक्ति के घर में घुसकर तोड़फोड़ की. इसके साथ ही उसके घर में आग लगाने की भी कोशिश की गई है. हालांकि आरोपी व्यक्ति पुलिस की पकड़ से बाहर है. जिसकी तलाश के लिए इंग्लिश बाजार थाने की पुलिस सीसीटीवी फुटेज का सहारा ले रही है.

इंग्लिश बाजार पुलिस यह पता लगाने की कोशिश कर रही है कि आखिर नाबालिक बालिका की हत्या करने वाला उसका सिर काटकर क्या साबित करना चाहता था? उसने आखिर बालिका का सिर क्यों काटा? इस रहस्य पर से तो पर्दा तभी उठेगा, जब अपराधी पुलिस की हिरासत में होगा. इसमें कोई शक नहीं कि मालदा इलाका अपराधियों का गढ़ रहा है. यहां अपराधियों का मनोबल बढ़ रहा है.

जानकार मानते हैं कि कुछ राजनीतिक दलों के स्थानीय नेता यहां अपराधियों को संरक्षण देते हैं. रंजिश, द्वेष और गुटबाजी के कारण आए दिन यहां वारदातें होती रहती हैं. मालदा के अलग-अलग क्षेत्रों में भाजपा, कांग्रेस और तृणमूल कांग्रेस के स्थानीय कार्यकर्ताओं और नेताओं के बीच हिंसात्मक वारदातें होती रहती हैं. कभी-कभी दो दलों की लड़ाई में निर्दोष लोग भी मारे जाते हैं. परंतु काफी समय के बाद इस तरह की यह पहली घटना है, जिसने मालदा पुलिस और मालदा के लोगों को आतंकित करके रखा है.

स्थानीय लोगों ने जिस व्यक्ति के घर में आग लगाई है या उसके घर को क्षति पहुंचाई है, क्या वाकई वही अपराधी है? पुलिस छानबीन में जुट गई है. या फिर अपराधी कोई और है. पुलिस इस एंगल से भी छानबीन कर रही है. लेकिन अभी तक कोई ऐसा clue नहीं मिल सका है ताकि इंग्लिश बाजार पुलिस आरोपी की शिनाख्त करते हुए उस तक पहुंच सके. जब तक अपराधी पुलिस की गिरफ्त में नहीं होगा, तब तक इस हत्याकांड और सर गायब करने जैसी वारदात के रहस्यों पर से पर्दा नहीं उठ सकता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *