February 3, 2023
Sevoke Road, Siliguri
Uncategorized

विमानों में यात्रियों के कैसे-कैसे व्यवहार, उठ रहे सवाल! क्या एयर होस्टेस विमान यात्रियों के मनोरंजन की वस्तु बनकर रह गई हैं?

बस और रेल में यात्रा के दौरान यात्रियों के बीच अक्सर तू तू मैं मैं हो जाती है. खासकर जनरल बोगी के सहयात्री सीट को लेकर आपस में लड़ पड़ते हैं. बसों में भी छिटपुट घटनाएं हो जाती हैं. मगर विमान में भी यात्रा के क्रम में यात्री बस और ट्रेन के यात्रियों की तरह आपस में लड़ पड़े, उनके बीच मारपीट तक की नौबत आ जाए, तो यही कहा जा सकता है कि बस, ट्रेन और विमान में अंतर क्या है! जहां ऐसी घटनाएं घटती हो, वहां विमानों की कितनी विश्वसनीयता रह जाती है!

अभी ज्यादा समय नहीं हुआ, जब बैंकॉक से दिल्ली आ रही एक फ्लाइट में यात्रियों के बीच जमकर बहस और मारपीट हो गई. थाई एयरवेज के इस विमान में दो अथवा दो से अधिक यात्रियों के बीच जमकर झड़प हो गई. यह 27 दिसंबर 2022 की घटना है. इसी तरह से 6 दिसंबर 2022 को न्यूयॉर्क से भारत आ रहे एयर इंडिया के विमान में एक यात्री ने एक महिला पर पेशाब कर दिया. 26 नवंबर 2022 को पेरिस से नई दिल्ली आ रहे एयर इंडिया के एक विमान में एक यात्री ने विमान की एक खाली सीट पर पेशाब कर दिया था. यह घटना भी सुर्खियों में रही.

21 दिसंबर 2022 को इस्तांबुल से दिल्ली आ रहे फ्लाइट में कुछ यात्रियों ने एयर होस्टेस के साथ दुर्व्यवहार किया और उसे नौकर तक कह डाला. यह विवाद खाना को लेकर हुआ था. यात्री खाना खराब होने की शिकायत कर रहे थे.एयर होस्टेस ने अपना बचाव किया. यह विमान इंडिगो का था. 8 जनवरी 2023 को दिल्ली से पटना आ रहे इंडिगो के विमान में तीन युवकों ने नशे की हालत में एयर होस्टेस के साथ बदसलूकी कर दी. उन्होंने खुद को एक बड़े राजनीतिक दल का कार्यकर्ता बताया और महिला एयर होस्टेस को खूब बुरा भला कहा.

22 जनवरी 2022 को एक बार फिर से स्पाइसजेट फ्लाइट में यात्रियों के द्वारा एयर होस्टेस के साथ बदतमीजी की घटना सुर्खियों में है. सोमवार को दिल्ली से हैदराबाद जा रहे कंपनी के विमान में बोर्डिंग के दौरान एक यात्री ने एयर होस्टेस के साथ बदतमीजी की. विमान कंपनी के अधिकारियों के अनुसार जब उक्त यात्री को रोका गया तो उसने पूरे केबिन क्रु के साथ बदतमीजी की और गाली गलौज किया.उस यात्री के चलते विमान में बोर्डिंग रोक दी गई.जब मामला तूल पकड़ने लगा तो केबिन क्रु ने पायलट और सिक्योरिटी स्टाफ को इसकी जानकारी दी. इसके बाद आरोपी व्यक्ति तथा उसके साथी को विमान से उतार दिया गया.

यह सभी घटनाएं दर्शाती हैं कि किसी समय विमान में यात्रा करना व्यक्ति की शान और शौकत का विषय समझा जाता था. किसी समय विमान में यात्रियों के अनुशासन की बात होती थी. किसी समय विमान में यात्रा करते समय यात्री खुद पर गर्व किया करते थे. आज ऐसी घटनाएं इस बात की ओर इशारा कर रही है कि विमानों की विश्वसनीयता खतरे में है. लोगों ने तो यहां तक कहना शुरू कर दिया है कि विमान यात्रा बस और ट्रेन से भी बदतर है!

आमतौर पर यही समझा जाता है कि विमान में पढ़े-लिखे और संपन्न सभ्य लोग यात्रा करते हैं, जो तमीजदार और तहजीबदार होते हैं. पर ऐसी घटनाएं उनकी पोल खोलती नजर आती है. इसके साथ ही इन घटनाओं से विमान कर्मचारियों, प्रबंधक तथा सुरक्षा गार्डों की कार्यशैली पर भी प्रश्न उठने लगा है. क्या विमान व्यक्ति की बदतमीजियो का अड्डा बन गया है? यह ठीक है कि सभी यात्री ऐसे नहीं होते. परंतु कुछ यात्री ऐसा क्यों करते हैं, उनके व्यवहार का भी अध्ययन किया जाना चाहिए! ऐसी घटनाओं की पुनरावृति ना हो, इसके लिए कोई ठोस प्रयास भी होता नजर नहीं आ रहा है!

लोग कहने लगे हैं कि विमान से तो भली बस और ट्रेन की यात्रा! अब समय आ गया है कि सरकार और नागरिक उड्डयन मंत्रालय विमानों की विश्वसनीयता बनाए रखने तथा ऐसी आपत्तिजनक घटनाओं को रोकने के लिए ठोस प्रयास करे. यह सुनिश्चित करना होगा कि एयर होस्टेस यात्रियों के मनोरंजन की वस्तु नहीं है और ना ही उनकी नौकर या गुलाम! जिससे जब चाहे जैसे व्यवहार कर सकें. अगर सरकार ने इस ओर तत्काल ध्यान नहीं दिया तो आने वाले समय में विमान में सभ्य यात्री यात्रा करने से बचेंगे!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *