February 26, 2024
Sevoke Road, Siliguri
Uncategorized

सिलीगुड़ी और दार्जिलिंग के लिए राजू बिष्ट की झोली में और क्या सौगात हैं?

भाजपा के कर्मठ कार्यकर्ता और सिपाही के रूप में दार्जिलिंग के भाजपा सांसद राजू बिष्ट सिलीगुड़ी और पहाड़ के लोगों के बीच अपनी स्वच्छ छवि की छाप छोड़ चुके हैं तो दूसरी तरफ यह सबको पता है कि राजू बिष्ट केंद्र में अनेक मंत्रियों और नेताओं के अत्यंत करीबी भी हैं. खासकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी और केंद्रीय रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव इत्यादि के वे खासम खास हैं. राजू बिष्ट अक्सर दिल्ली का दौरा करते रहते हैं और केंद्रीय मंत्रियों से आए दिन उनकी मुलाकात होती रहती है. कभी पहाड़ का मुद्दा लेकर तो कभी समतल का हिसाब लेकर, तो कभी चाय बागान और Dooars क्षेत्रों का लेखा जोखा लेकर राजू बिष्ट दिल्ली दौड़ जाते हैं और कुछ ना कुछ सौगात लेकर आते ही है.

राजू बिष्ट के प्रयास से ही माटीगाड़ा से लेकर सेवक तक डबल लेन निर्माण कार्य की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है. एनजेपी, जलपाईगुड़ी रोड इत्यादि स्टेशनों का कायाकल्प किया जा रहा है.इसके अलावा रेलवे ट्रैक का आधुनिकीकरण, विद्युतीकरण, सेवक रंगपो रेल परियोजना इत्यादि कार्य सुचारू रूप से हो रहे हैं. बागडोगरा एयरपोर्ट कुछ समय के बाद देश के चुनिंदा एयरपोर्ट में शामिल हो जाएगा. इस तरह से देखा जाए तो उत्तर बंगाल और सिलीगुड़ी के विकास के लिए केंद्र के सहयोग से अनेक परियोजनाएं कार्यान्वित हो रही है.

राजनीतिक विश्लेषकों का कहना है कि राजू बिष्ट पहाड़ के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण नेता हैं, जो पहाड़ के विकास के साथ साथ सिलीगुड़ी के विकास को अहम मुद्दा मानते हैं. लोगों का यह भी कहना है कि दार्जिलिंग संसदीय क्षेत्र के अंतर्गत पहाड़ का केंद्र के बगैर संपूर्ण विकास नहीं हो सकता. बंगाल सरकार की अपनी सीमाएं हैं. यही कारण है कि राजू बिष्ट अक्सर दिल्ली में नेताओं तथा मंत्रियों के चक्कर काटते रहते हैं. उन्होंने जब जब पहाड़ और समतल के विकास का प्रस्ताव संबंधित मंत्रालय और संबंधित मंत्री के समक्ष रखा है, उसे उन्होंने पूरा करवाया भी है.

राजू बिष्ट एक बार फिर से सुर्खियों में है. इस बार उनकी चर्चा केंद्रीय मंत्री अमित शाह और अश्विनी वैष्णव के साथ मुलाकात को लेकर हो रही है. राजू बिष्ट ने दोनों ही मंत्रियों से दिल्ली में मुलाकात की है.उन्होंने केंद्रीय मंत्री अमित शाह का भारी गुणगान किया है और कहा है कि पहाड़ के लोग अमित शाह का मार्गदर्शन चाहते हैं. उन्होंने व्यक्तिगत रूप से अमित शाह का तहे दिल से गुणगान किया है और मंतव्य व्यक्त किया है कि उनके जैसा दूरदर्शी नेतृत्व और कर्मठ नेता पहाड़ को मिलना मुश्किल है. दरअसल राजू बिष्ट एक बार फिर से पहाड़ के गोरखा मुद्दों तथा सिलीगुड़ी के विकास को लेकर अमित शाह से मिले हैं.

भाजपा के द्वारा 2024 के लोकसभा चुनाव की तैयारी शुरू हो चुकी है. पहाड़ के कुछ अधूरे कार्य रह गए हैं,जिन्हें इसी साल अथवा चुनाव से पूर्व पूरे करने हैं.पहाड़ में विपक्षी दलों के नेता इन मुद्दों को अक्सर राजनीति का केंद्र बनाते रहे हैं. इसलिए भाजपा भी सही मौके का इंतजार कर रही है. इसका यह भी मतलब है कि पहाड़ के लोगों को आने वाले कुछ महीनों में कोई ना कोई स्पेशल सौगात मिल सकता है. रही बात समतल और Dooars की तो केंद्र की कई परियोजनाएं पहले से ही यहां चल रही है. सूत्र बता रहे हैं कि इस बार भाजपा चाय बागानों के साथ-साथ पहाड़ और Dooars क्षेत्रों के विकास के नए स्वरूप पेश कर सकती है. लोकसभा चुनाव में पश्चिम बंगाल से भाजपा अधिक से अधिक सीटें जीतना चाहती है. इसके लिए जरूरी है कि भाजपा कुछ विशेष कार्य करे. भाजपा के कर्मठ सिपाही के रूप में राजू बिष्ट पहले से ही पहचान बना चुके हैं.

राजू बिष्ट प्रधानमंत्री और गृह मंत्री के काफी भरोसेमंद भी हैं. वे अच्छी हिंदी भी बोल लेते हैं. इसलिए यह समझा जाता है कि केंद्रीय मंत्रियों से उनकी मुलाकात और प्रस्ताव का कुछ ना कुछ मायने अवश्य रहता है. जिस तरह से राजू बिष्ट ने केंद्रीय मंत्री अमित शाह और रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव का गुणगान किया है, उससे यह भी मतलब निकाला जा सकता है कि उत्तर बंगाल और सिलीगुड़ी में केंद्र की जितनी भी परियोजनाएं चल रही है, वह सभी समय के अनुसार पूरी होंगी.

हालांकि यह स्पष्ट नहीं हो सका है कि इस बार राजू बिष्ट की झोली में सिलीगुड़ी, पहाड़ और Dooars क्षेत्रों के लिए खास तोहफा क्या है. जैसा कि आप जानते हैं कि पिछले आम बजट में केंद्र ने उत्तर बंगाल के विकास के लिए दिल खोलकर फंड रिलीज किया है. ऐसे में समझा जाता है कि सिलीगुड़ी, समतल, पहाड़ और Dooars क्षेत्रों का पर्याप्त विकास होगा. कयास लगाया जा रहा है कि राजू बिष्ट अमित शाह को खुश करके कुछ नए प्रोजेक्ट पास कराने वाले हैं जो सिलीगुड़ी और पहाड़ के लिए ही है. लेकिन वह क्या है यह स्पष्ट नहीं हो सका है. हालांकि बहुत जल्दी पता चल जाएगा!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

DMCA.com Protection Status