July 13, 2024
Sevoke Road, Siliguri
Uncategorized

सिलीगुड़ी और पहाड़ के रोगियों का अब होगा बेहतर इलाज !

इसमें कोई शक नहीं कि देश के दूसरे विकसित शहरों की तुलना में सिलीगुड़ी और दार्जिलिंग के लोगों को बहुत कम स्वास्थ्य सुविधाएं हासिल हैं. कहने के लिए तो यहां अस्पताल और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र भी हैं. परंतु इनमें संसाधनों की कमी साफ दिख जाती है. सिलीगुड़ी में सिलीगुड़ी जिला अस्पताल और उत्तर बंगाल मेडिकल कॉलेज अस्पताल है. परंतु पहाड़ में खासकर दार्जिलिंग में तो यह भी नहीं है. यही कारण है कि दार्जिलिंग पहाड़ के मरीज गहन चिकित्सा के लिए सिलीगुड़ी आते हैं. इससे सिलीगुड़ी के अस्पतालों पर भी दबाव बना रहता है.

जानकार मानते हैं कि सिलीगुड़ी में योग्य तथा कुशल डॉक्टरों का भी अभाव है. यहां के कई अस्पतालों में अत्याधुनिक चिकित्सा सुविधाएं भी उपलब्ध नहीं है. कई मामलों में सिलीगुड़ी के रोगी सघन चिकित्सा के लिए या तो कोलकाता जाते हैं या फिर चेन्नई, बेंगलुरु या मुंबई में अपना इलाज कराते हैं. दार्जिलिंग लोक सभा के भाजपा सांसद तथा भाजपा प्रवक्ता राजू बिष्ट ने कई बार अपने संसदीय क्षेत्र के कमजोर स्वास्थ्य संसाधन की बात लोकसभा में उठाई थी. अब उनकी मेहनत रंग लाई है.

भारत सरकार, स्वास्थ्य मंत्रालय ने सिलीगुड़ी, दार्जिलिंग, कालिमपोंग, उत्तर दिनाजपुर समेत कई क्षेत्रों में लोगों के स्वास्थ्य को उन्नत बनाने तथा बीमार लोगों को अच्छी चिकित्सा सेवा मिल सके, इस उद्देश्य से इन क्षेत्रों के लिए फंड का खजाना खोल दिया है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर मनसुख मांडवीया ने भाजपा सांसद राजू बिष्ट को एक पत्र लिखकर इसकी जानकारी दी है.

सिलीगुड़ी महकुमा परिषद के सभी क्षेत्रों जैसे माटीगाड़ा, फासीदेवा, बागडोगरा ,खोरीबारी इत्यादि तथा गोरखा पर्वतीय परिषद, पहाड़ के लिए सरकार ने 9051.00 लाख रुपये नेशनल हेल्थ मिशन के तहत आवंटित किया है. जबकि उत्तर दिनाजपुर जिले के लिए 11112. 21 लाख रुपए आवंटित किया है. वही कालिमपोंग जिले के लिए 2103.33 लाख रूपए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से पब्लिक हेल्थ सिस्टम को मजबूत बनाने के लिए आवंटित किया गया है.

दार्जिलिंग में क्रिटिकल केयर हॉस्पिटल ब्लॉक के आधुनिकीकरण तथा कायाकल्प के लिए काफी समय से प्रयास जारी है. अगर क्रिटिकल केयर हॉस्पिटल ब्लॉक को नए अंदाज में नई चिकित्सकीय सुविधाओं के साथ शुरू किया जाए तो दार्जिलिंग में ही सघन चिकित्सा व्यवस्था सुलभ हो जाएगी. ऐसे में सिलीगुड़ी के अस्पतालों पर भी दबाव कम होगा.

सांसद राजू बिष्ट ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आभार व्यक्त करते हुए उम्मीद जताई है कि PM ABHIM योजना के तहत जारी किए गए फंड से सिलीगुड़ी, कालिमपोंग और दार्जिलिंग के लोगों की स्वास्थ्य सेवा बेहतर हो सकेगी तथा उन्हें इलाज के लिए बाहर जाने की जरूरत नहीं होगी!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *