February 5, 2023
Sevoke Road, Siliguri
Uncategorized

सिलीगुड़ी में ठिठुरन वाली ठंड ने लोगों को घर में किया ‘नजरबंद’!

मौसम की शायद यह पहली ठंड है, जहां ठंड ने लोगों को घर में दुबकने पर मजबूर कर दिया. शायद यह पहला मौका होगा जब सिलीगुड़ी और आसपास के इलाकों में घने कोहरे ने सड़क यातायात को सबसे ज्यादा प्रभावित किया. सिलीगुड़ी, जलपाईगुड़ी, समतल पहाड़ सब जगह ठंड के कहर से लोग अलाव जला कर हाथ सेकते नजर आए.

सिलीगुड़ी में सुबह से ही घना कोहरा और धुंध ने सूर्य को ढक लिया. जिसके कारण ठंड का असर बढ़ गया. कई दिनों से सिलीगुड़ी में दिन में तापमान बढ़ जाता था. तेज धूप से ऐसा लग रहा था कि मौसम बदलने लगा है. 1 दिन पहले तक लोग यही समझ रहे थे कि मकर संक्रांति के बाद ठंड का असर कमना शुरू हो जाएगा.

मौसम विज्ञान विभाग की माने तो मकर संक्रांति के बाद तापमान बढ़ने और ठंड में कमी की भविष्यवाणी की गई थी. लेकिन इसके विपरीत मकर संक्रांति के पहले दिन ने ही ठंड ने ठिठुरन को बढ़ा दिया. इससे कई लोग अचंभित भी हैं. जिस तरह का मौसम सिलीगुड़ी और आसपास के इलाकों में बना हुआ है, यह भी आशंका व्यक्त की जा रही है कि संभवत: बूंदाबांदी हो सकती है.

जहां तक सिक्किम, दार्जिलिंग और पर्वतीय क्षेत्रों की बात करें तो सिक्किम में बर्फबारी होने का खतरा बढ़ गया है. आज सुबह से ही धुंध ने यातायात को सबसे ज्यादा प्रभावित किया. विजिबिलिटी कम होने से सड़कों पर दिन में ही हेड लाइट की रोशनी में गाड़ियां रेंगती रही. सुबह के समय सिलीगुड़ी के कई इलाके फुलबारी, मेडिकल तथा दूसरे क्षेत्र धुंध में ढक गए, जिसके कारण गाड़ियों का आवागमन प्रभावित हुआ.

आज सिलीगुड़ी और जलपाईगुड़ी का तापमान सबसे कम दर्ज किया गया. सिलीगुड़ी का न्यूनतम तापमान 13 डिग्री सेल्सियस से भी कम पाया गया. घने कोहरे और धुंध के चलते बागडोगरा एयरपोर्ट पर विमानों का आवागमन काफी प्रभावित हुआ. वही सिलीगुड़ी में प्रस्तावित कई सरकारी और गैर सरकारी कार्यक्रम ठंड और धुंध के कारण प्रभावित हुए. अथवा उनका संचालन देर से हो सका.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *