February 24, 2024
Sevoke Road, Siliguri
Uncategorized

सिलीगुड़ी में सड़क जाम की समस्या ‘जादुई जिन’ से नहीं होगी दूर!

सिलीगुड़ी में ट्रैफिक जाम की समस्या ऐसी है कि इसे ना तो बातों से दूर किया जा सकता है और ना ही तत्कालिक उपायों से. क्योंकि यह समस्या वर्षों से चली आ रही है. आरोप है कि इस समस्या के लिए बहुत हद तक वाममोर्चा जिम्मेवार है. वाममोर्चा शासित सिलीगुड़ी नगर निगम बोर्ड ने सिलीगुड़ी शहर को बसाने के लिए सड़क के नियमों और प्रावधानों का कोई ध्यान नहीं दिया,जिसके कारण सिलीगुड़ी की सड़कें काफी संकीर्ण और छोटी हो गई हैं. समस्या के समाधान में वक्त लगेगा. तृणमूल शासित बोर्ड प्रयास कर रहा है और धीरे-धीरे इसमें सुधार होगा!

कम से कम सिलीगुड़ी नगर निगम के मेयर गौतम देव की नजर में तो ऐसा ही है.वे वर्तमान स्थिति के लिए वाममोर्चा शासित सिलीगुड़ी नगर निगम बोर्ड को जिम्मेवार ठहराते हैं. वाममोर्चा ने सिलीगुड़ी में ट्रैफिक जाम की समस्या के स्थाई समाधान के लिए कुछ नहीं किया. और तो और, जल्दी-जल्दी शहर बसाने के क्रम में वाम बोर्ड ने भवन निर्माण में अनियोजित तरीका अपनाया, जिसका परिणाम यह है कि वर्तमान ट्रैफिक जाम की समस्या से लोगों को आए दिन दो चार होना पड़ रहा है.

सिलीगुड़ी में ट्रैफिक जाम की समस्या से निबटने के लिए मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी प्रशासनिक अधिकारियों को निर्देश दिया था. सिलीगुड़ी प्रशासन और ट्रैफिक विभाग ने मिलकर जाम मुक्त शहर बनाने के प्रयास भी किए. परंतु इसका स्थाई हल अब तक नहीं मिल सका है. परिणाम यह है कि शहर के किसी भाग में अतिक्रमण मुक्त अभियान चलाया जाता है तो उसी शहर के दूसरे भाग में अतिक्रमण भी बढ़ जाता है. ऐसा भी होता है कि किसी एक भाग में अतिक्रमण के खिलाफ अभियान चलाया जाता है. कुछ दिनों में फिर से अतिक्रमण बढ़ जाता है.

. सिलीगुड़ी नगर निगम ने पिछले कुछ समय से सिलीगुड़ी शहर की विभिन्न सड़कों को अतिक्रमण मुक्त करने के अभियान तो चलाएं हैं लेकिन इन सब के बावजूद भी ट्रैफिक जाम की समस्या कम नहीं हो रही है. दरअसल कई रास्ते ऐसे हैं जो निर्माण के कारण अवरुद्ध हो चले हैं. लेकिन यह सभी निर्माण वाममोर्चा के समय में हुए थे और उनमें से कई वैध भी हैं. इन्हें गिरा पाना अथवा हटाना आसान भी नहीं है.

आज सिलीगुड़ी नगर निगम के प्रधान कार्यालय में एसएमसी की बोर्ड बैठक हुई. इसमें विपक्ष ने सिलीगुड़ी शहर में बढ़ती सड़क जाम की समस्या का मुद्दा उठाया तो गौतम देव ने इस समस्या के लिए वाममोर्चा को कसूरवार ठहराते हुए टिप्पणी भी की. लेकिन कहा था कि इस बड़ी समस्या के समाधान में कुछ वक्त लग सकता है. सिलीगुड़ी नगर निगम धीरे-धीरे लक्ष्य प्राप्ति की दिशा में कार्य कर रही है. उन्होंने कहा कि जगह-जगह पुल बनाए जा रहे हैं. इसके अलावा पार्किंग आदि के कार्य भी हो रहे हैं. इन सभी कार्यों से सिलीगुड़ी में सड़क जाम की समस्या में कमी आएगी!

मेयर चाहे जो भी कहे परंतु वर्तमान स्थिति ऐसी है कि जब तक वैकल्पिक सड़क निर्माण अथवा ओवर ब्रिज जैसे निर्माण कार्य नहीं होते हैं, तब तक छोटे- मोटे अभियान अथवा कार्यक्रम करने से बात नहीं बनने वाली है. सिलीगुड़ी की आबादी भी लगातार बढ़ रही है.उसी तेजी से सड़कों पर वाहनों की संख्या भी बढ़ रही है. आने वाले समय में सड़कें और छोटी होती जाएंगी और वाहनों की संख्या बढ़ती जाएगी!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

DMCA.com Protection Status