February 26, 2024
Sevoke Road, Siliguri
Uncategorized

सिलीगुड़ी में सीएम… भागती रही गाड़ियां, दौड़ते रहे लोग!

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी हों अथवा कोई भी वीवीआईपी, उनका दौरा ट्रैफिक के लिए जरूर मुसीबत बन जाता है. और जहां तक मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की बात है, जब भी वह सिलीगुड़ी आती हैं तो सिलीगुड़ी मेट्रोपॉलिटन पुलिस और ट्रैफिक विभाग के पसीने बहने लगते हैं.जैसा कि मंगलवार को सिलीगुड़ी में देखा गया. बुधवार को भी दोपहर तक यही स्थिति बनी रहेगी.

मंगलवार को सिलीगुड़ी की ट्रैफिक व्यवस्था का हाल यह रहा कि लोग घर से गंतव्य जाने के लिए निकले जरूर, परंतु समय पर नहीं पहुंच सके. हालांकि सिलीगुड़ी मेट्रोपॉलिटन पुलिस और ट्रैफिक विभाग ने पहले से रूट परिवर्तन और नए मार्गों का संक्षिप्त विवरण जरूर दिया था, परंतु सामान्य लोगों को उसकी जानकारी नहीं होने से लोग सड़कों पर इधर-उधर भागते रहे.

सिलीगुड़ी के लगभग सभी छोटे बड़े चौक चौराहों पर ट्रैफिक पुलिस और सिविक वॉलिंटियर तैनात थे, जो गाड़ी चालकों को दिशा निर्देश दे रहे थे. लोग सिविक वॉलिंटियर तथा ट्रैफिक पुलिस से पूछताछ करते नजर आए. एक छोटी सी दूरी तक जाने के लिए वाहन चालको को काफी घूमकर जाना पड़ा. सबसे ज्यादा परेशानी सिटी ऑटो तथा टोटो चालकों को हुई जो सड़क पर गाड़ियां खड़ी नहीं कर सकते थे. यात्री उठाने के लिए उन्हें काफी जद्दोजहद करनी पड़ी. कई चालक तो ट्रैफिक पुलिस कर्मियों से बहस करते नजर आए.

रोज की तरह सिलीगुड़ी की सड़कों पर यात्री गाड़ियां चली जरूर परंतु गंतव्य तक पहुंचने के लिए चालकों को कितने कितने पापड़ बेलने पड़े, यह तो वही जानते हैं. या फिर यात्री वाही गाड़ियों में बैठे यात्री. फुलबारी से सालुगरा जाने के लिए सिटी ऑटो समय से निकले जरूर, परंतु नौकाघाट में ट्रैफिक की ओर से उन्हें नया निर्देश दिया गया, जिसके बारे में उन्हें भी जानकारी नहीं थी. फुलबारी से सालुगरा जाने के लिए सिटी ऑटो गाड़ियों को वाया जलपाई मोड, एयर व्यू मोड, सिलीगुड़ी जंक्शन, दार्जिलिंग मोड और फिर बाईपास होते हुए चेकपोस्ट और सालूगाडा तक जाना पड़ा था. गाड़ियों के चालकों ने यात्रियों से अन्य दिनों के मुकाबले ज्यादा किराया वसूल किए.

आमतौर पर इन गाड़ियों का रूट जलपाई मोड से वेनस मोड, विधान मार्केट, पानी टंकी मोड होते हुए सेवक रोड, चेक पोस्ट होते हुए सालुगरा तक है. परंतु मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के कंचनजंघा स्टेडियम में सभा के कारण ट्रैफिक विभाग की ओर से गाड़ियों को इस रूट से जाने नहीं दिया गया. यहां तक कि वेनस मोड से लेकर पानी टंकी मोड तक गाड़ियों का आना जाना बंद रहा. जगह-जगह सिलीगुड़ी मेट्रोपॉलिटन पुलिस और ट्रैफिक विभाग के सिविक वॉलिंटियर तैनात थे.

मंगलवार को सिलीगुड़ी में मालवाही गाड़ियों का भी प्रवेश नहीं हो सका. ट्रैफिक पुलिस के द्वारा उन्हें बाहर ही रोक दिया गया या फिर बाहर से ही उन गाड़ियों का परिचालन हो सका. मेडिकल मोड, कावाखाली, नौकाघाट,जलपाई मोड, एसएफ रोड, हाशमी चौक सब जगह ट्रैफिक पुलिस के वालंटियर तैनात थे. दार्जिलिंग मोड पर भाडा कमाने वाली गाड़ियों को ट्रैफिक पुलिस की फटकार के साथ-साथ उनकी गाड़ियां सीज कर लेने की धमकी तक मिली. यहां ट्रैफिक पुलिस ने गाड़ी चालकों को सड़क पर गाड़ी खड़ी करके सवारियां उठाने का मौका नहीं दिया. इससे यात्रियों को भी काफी परेशानी हुई.

मुख्यमंत्री की स्टेडियम में जनसभा के कारण ट्रैफिक पुलिस ने आसपास के कई मार्गों को यातायात के लिए बंद कर रखा था. इससे वाहन चालकों के साथ-साथ यात्रियों को भी काफी परेशानी हुई.सिलीगुड़ी जिला अस्पताल में आने वाले मरीज भी परेशान दिखे क्योंकि उन्हें गंतव्य तक जाने के लिए गाड़ियां नहीं मिल सकी. मार्ग परिवर्तन के कारण सिलीगुड़ी के कई मार्गों पर जाम भी देखने को मिला. हिल कार्ट रोड, महावीर स्थान, रेलगेट, सेवक रोड सब जगह जाम की स्थिति देखने को मिली. हालांकि ट्रैफिक पुलिस और सिविक वॉलिंटियर की तैनाती के कारण इसका समाधान जल्दी हो गया. जानकार मानते हैं कि मंगलवार जैसा ही बुधवार को भी स्थिति बनी रहेगी. मुख्यमंत्री आज मेघालय के लिए रवाना हो जाएंगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

DMCA.com Protection Status