April 19, 2024
Sevoke Road, Siliguri
उत्तर बंगाल राजनीति सिलीगुड़ी

भाजपा की बंपर जीत ने बंगाल में TMC की चिंता बढाई! क्या सेमीफाइनल में जीती भाजपा फाइनल में वर्ल्ड कप की तरह हारेगी?

जहां से दूसरे दलों तथा दलों के नेताओं से उम्मीद खत्म होती है, वहीं से मोदी की गारंटी शुरू होती है…! कम से कम तीन राज्यों की जनता ने इस पर मुहर लगा दी है. भाजपा की बंपर जीत के बाद पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस बौखला गई है और पार्टी के नेता भाजपा की विजय से ज्यादा इसे कांग्रेस पार्टी की करारी हार बता रहे हैं.

2024 के लोकसभा चुनाव में देश भर में भाजपा कितनी सीटें जीतेगी, उससे ज्यादा महत्वपूर्ण यह है कि विधानसभा चुनाव परिणामों से पश्चिम बंगाल में भाजपा को कितना फायदा होने वाला है?भाजपा ने 2024 के लोकसभा चुनाव में पश्चिम बंगाल से लोकसभा की 35 सीटे जीतने का लक्ष्य रखा है. इंडिज गठबंधन पहले से ही मानता आ रहा है कि विधानसभा के चुनाव भाजपा के लिए सेमीफाइनल है. अगर भाजपा सेमीफाइनल हारी तो फाइनल में उसकी हार पक्की. अब बीजेपी सेमीफाइनल जीत गई तो क्या फाइनल में उसकी जीत पक्की है?

यह चर्चा शुरू हो चुकी है. एक तरफ तो पूरे देश में यह चर्चा शुरू हो गई है कि भारतीय जनता पार्टी ने सेमीफाइनल में जीत दर्ज कर फाइनल में अपनी विजय की गारंटी तय कर ली है. न केवल भाजपा के नेता बल्कि कुछ राज्यों में विपक्षी दलों के नेताओं का मंतव्य भी कुछ ऐसा ही इशारा कर रहे हैं. लेकिन पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस सेमीफाइनल में भाजपा की जीत से ज्यादा इसे कांग्रेस की करारी हार बता रही है. हालांकि तृणमूल कांग्रेस के नेता अनमने ढंग से भाजपा को जीत की बधाई भी दे रहे हैं. लेकिन इसके साथ ही भाजपा की सेमीफाइनल में जीत को वर्ल्ड कप की तरह देख रहे हैं और मिसाल दे रहे हैं कि जिस तरह से भारत सभी 10 मैच जीत कर फाइनल में हार गया था, उसी तरह से मोदी सरकार भी लोकसभा चुनाव में मुंह की खाएगी.

TMC के कुछ नेता सेमीफाइनल में भाजपा की जीत को पश्चिम बंगाल टीएमसी के लिए कोई खतरा नहीं मान रहे हैं. वे दावे के साथ कहते हैं कि पश्चिम बंगाल में भाजपा को मुंह की खानी पड़ेगी. क्योंकि बंगाल और दूसरे प्रदेशों में अंतर है. दूसरी तरफ बंगाल भाजपा तीन राज्यों में पार्टी की बंपर विजय से गदगद है. उन्हें लगता है कि जिस तरह से भ्रष्टाचार कांग्रेस को ले डूबा, उसी तरह से पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस का भ्रष्टाचार उसे ले डूबेगा. सुकांत मजूमदार, शुभेंदु अधिकारी जैसे वरिष्ठ भाजपा नेता काफी उत्साहित हैं और 2024 तथा 2026 की तैयारी में जुट गए हैं.

पिछले कुछ वर्षों में पश्चिम बंगाल में बहुचर्चित कोयला तथा मवेशी तस्करी मामले से लेकर शिक्षक भर्ती घोटाला, राशन घोटाला इत्यादि कई घोटाले एक-एक कर सामने आ रहे हैं. इडी और सीबीआई अपना काम कर रही है. अब तक तृणमूल कांग्रेस के लगभग एक दर्जन नेता और मंत्री गिरफ्तार हो चुके हैं. इनमें विधायक भी शामिल हैं.आलोचकों का मानना है कि तीन राज्यों में भाजपा की बंपर जीत और कांग्रेस की करारी हार के पीछे कहीं ना कहीं कांग्रेस का भ्रष्टाचार भी है. ऐसे में पश्चिम बंगाल में भी भाजपा को इसका लाभ मिल सकता है.

सिलीगुड़ी में भाजपा का विजय जुलूस भी निकल चुका है. भाजपा कार्यकर्ता पूरे जोश में दिख रहे हैं. राजनीतिक विश्लेषक मानते हैं कि तीन राज्यों में भाजपा की प्रचंड जीत का अगले साल होने वाले लोकसभा चुनाव पर पूरा असर होगा और बंगाल में भी इसका असर देखने को मिलेगा. यही कारण है कि बंगाल भाजपा सेमी फाइनल से होकर फाइनल में जीत की गारंटी बता रही है. बंगाल भाजपा में जोश इतना बढा है कि शुभेंदु अधिकारी जैसे वरिष्ठ भाजपा नेता यह तक कह रहे हैं कि लोकसभा चुनाव और विधानसभा चुनाव में मोदी की सुनामी आना तय है.

बंगाल भाजपा के कार्यकर्ता और नेता पहले से ज्यादा मुखर हुए हैं. यह बताते चलें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तीन राज्यों में भाजपा की जीत की हैट्रिक को 2024 के लोकसभा चुनाव में भाजपा की जीत की हैट्रिक की गारंटी करार दिया है. उन्होंने एक दिन पहले ही भाजपा मुख्यालय दिल्ली में अबकी बार 400 पार के नारों के बीच कार्यकर्ताओं को संबोधित किया था. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का एक स्लोगन सुर्खियों में है, जिसमें उन्होंने कहा है कि जहां से दूसरों से उम्मीद खत्म होती है, वहीं से मोदी की गारंटी शुरू होती है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तथा उनकी सरकार ने पिछले 10 वर्षों में क्या किया है, सवाल यह महत्वपूर्ण नहीं है.कई राजनीतिक दलों के नेता प्रधानमंत्री के कामकाज और उनकी शैली पर टीका टिप्पणी कर सकते हैं. उनकी कमियां गिना सकते हैं. लेकिन दूसरी ओर ऐसे नेता यह भी मानते हैं कि नरेंद्र मोदी जैसा वक्ता कोई नहीं है. इसके साथ ही यह नेता यह भी मानते हैं कि नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता दुनिया भर के देशों में है. वह एक ग्लोबल लीडर के रूप में तेजी से उभर रहे हैं. कहीं ना कहीं यह लगता है कि नरेंद्र मोदी के व्यक्तित्व ने जिस तरह से विधानसभा चुनाव में भाजपा को जीत दिलाया, ठीक उसी तरह से 2024 के लोकसभा चुनाव में उनकी लोकप्रियता और व्यक्तित्व ही भाजपा को जीत की गारंटी देगा!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

DMCA.com Protection Status