July 13, 2024
Sevoke Road, Siliguri
उत्तर बंगाल दार्जिलिंग मौसम लाइफस्टाइल

सिक्किम में बाढ़ व भूस्खलन से तबाही! 5 लापता, 1 शव बरामद, बंगाल में भी रेड अलर्ट!

दार्जिलिंग और सिक्किम में पिछली रात हुई मूसलाधार बारिश ने एक तरफ जहां भूस्खलन को अनियंत्रित सा कर दिया, तो दूसरी तरफ तीस्ता नदी के जल स्तर को खतरनाक स्थिति में ला दिया है. सिक्किम के विभिन्न स्थानों पर तीस्ता नदी विकराल रूप धारण कर चुकी है. तीस्ता बाजार, मल्ली, र॔भी, गेलखोला इत्यादि क्षेत्रों में बाढ़ आ गई है. इन क्षेत्रों से लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचा दिया गया है.कई इलाकों में रोड क्षतिग्रस्त हो गए हैं. एक पुल भी धराशाई हो चुका है. कालिमपोंग और दार्जिलिंग के रास्ते बंद हैं. राहत और बचाव कार्य भी शुरू हो चुका है.

सिक्किम के विभिन्न स्थानों को आपस में जोड़ने के लिए सरकार की ओर से कई नए पुलों का निर्माण किया जा रहा था. वह सब बारिश, भूस्खलन और तीस्ता नदी की विकराल धारा में बह गए हैं. मकान तो ताश के पत्तों की तरह भरभरा कर गिरे. इससे आतंक की स्थिति उत्पन्न हो गई. कालिमपोंग के कई इलाके जलमग्न हो चुके हैं. तीस्ता बाजार पानी में डूबने लगा है. कई स्थानों पर तीस्ता नदी खतरे के निशान से ऊपर बह रही है. तीस्ता बैराज इलाका और कई कस्बे बुरी तरह प्रभावित हुए हैं. राष्ट्रीय राजमार्ग 10, सिंगताम का शांति नगर और गंगतोक का रास्ता ध्वस्त हो चुका है.

सिक्किम के अपर दोजोंगू इलाके में भयानक भूस्खलन हुआ है. गंगटोक के शिव मंदिर क्षेत्र में पैनीहोस के पास भूस्खलन हुआ है. भूस्खलन के कारण मंगन से चुंगतांग होते हुए टंगनागा तक की सड़क बंद कर दी गई है. कई क्षेत्रों का संपर्क कट चुका है. मैंगन क्षेत्र में रोड ही बह गया. वहां मोबाइल नेटवर्क काम नहीं कर रहा है. कई लोगों के घायल होने की भी जानकारी मिल रही है. मैंगन के एसपी ने आज सुबह में जानकारी दी कि तीस्ता नदी के विकराल रूप धारण करने के कारण रंगरंग के पास अम्बिथांग में तीन लोग लापता हो गए हैं. जबकि मैंगन के नजदीक पेकशेप में दो लोगों के लापता होने की जानकारी मिली है. पुलिस अधीक्षक ने कहा कि एक शव भी बरामद हुआ है.

पिछली रात सिक्किम में जोरदार बारिश हुई है. इसके कारण तीस्ता नदी का जलस्तर कई इलाकों में खतरे के निशान को पार कर गया. जिसके कारण निचले इलाकों में बाढ़ की स्थिति उत्पन्न हो गई. लगातार बारिश और भूस्खलन के चलते गाइथांग में तीन घर क्षतिग्रस्त हो गए हैं. जबकि नेमपथांग में सड़क मार्ग ही अवरूद्ध हो गया है. बारिश और भूस्खलन के चलते वहां कई घर तबाह हो चुके हैं. पुलिस अधीक्षक ने बताया कि ब्रिंगबोंग OP के कर्मचारियों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचा दिया गया है. उन्होंने कहा कि संकलांग में निर्माणाधीन एक पुल का फाउंडेशन बह गया. उत्तरी क्षेत्र में मोबाइल नेटवर्क काम नहीं कर रहा है.

हालात को देखते हुए एसडीआर एफ का एक प्लाटून मैंगन में भेजा जा रहा है. आज सुबह डीआईजी AP ने अपील की थी. सूत्रों ने बताया कि रविझोरा के पास एन एच 10 सड़क कभी भी क्षतिग्रस्त हो सकती है. क्योंकि यहां तीस्ता नदी का जलस्तर विकराल रूप ले चुका है. इस बीच मौसम विभाग ने सिक्किम के साथ-साथ उत्तर बंगाल में भी रेड अलर्ट की चेतावनी जारी की है. उत्तर बंगाल के पांच जिलों के लोगों के लिए यह चेतावनी जारी की गई है, जो तीस्ता नदी के तटवर्ती भागों में रहते हैं.

जलपाईगुड़ी जिला प्रशासन ने तीस्ता नदी के किनारे के निवासियों को सुरक्षित स्थानों पर जाने की चेतावनी जारी की है. भारी बारिश के कारण रानी खोला नदी उफान पर है और सड़क के ऊपर से बह रही है. कई घरों में तो नदी का पानी घुस गया है. तीस्ता नदी सिक्किम और बंगाल के विभिन्न इलाकों में तबाही मचाने को आतुर है.

सिक्किम में तीस्ता नदी के विकराल रूप धारण करने से निवासियों के समक्ष पिछले साल की त्रासदी का मंजर खड़ा हो गया है.जब सिक्किम में आई त्रासदी ने सिक्किम में विनाश लीला मचाई थी. कई लोग लापता हो गए. कई पुल बह गए.सड़क बह गई. मकान बह गए. कई क्षेत्रों में तो अभी भी निर्माण कार्य चल रहा है कि एक बार फिर से त्रासदी लौटती दिखाई दे रही है. पर्यटन के मौसम में अचानक आई त्रासदी ने पर्यटकों में भी दहशत पैदा कर दी है. बहुत से पर्यटक उतरी सिक्किम में फंसे हुए हैं. वहां से उन्हें सुरक्षित स्थानों पर ले जाने की व्यवस्था की जा रही है.

इस बीच हिमालयन हॉस्पिटैलिटी एंड टूरिज्म डेवलपमेंट नेटवर्क के सम्राट सान्याल ने बताया कि हालांकि सिक्किम में तीस्ता नदी के जल प्रवाह में आई तेजी और भूस्खलन के कारण आपदा का संकट बढ़ा है. लेकिन किसी को भी डरने या घबराने की जरूरत नहीं है. प्रशासन तेजी से काम कर रहा है. रास्ते की मरम्मत की जा रही है. लोगों को सुरक्षित स्थानों पर भेजा जा रहा है. जल्दी हालात काबू में आ जाएंगे. सिक्किम व कालिमपोंग के लिए एक हेल्पलाइन नंबर जारी किया गया है. किसी को भी असुविधा होने पर इस नंबर पर संपर्क किया जा सकता है. यह नंबर है 9144433310.

सिक्किम के मुख्यमंत्री प्रेम सिंह तमांग ने तबाही की जानकारी मिलने के बाद मंगन के आसपास के इलाकों और उत्तरी सिक्किम के विभिन्न स्थानों पर विनाशकारी भूस्खलन को देखते हुए भारी दुख प्रकट किया है और पीड़ित लोगों के साथ मजबूती से खड़ा होने की की बात कही है. उन्होंने उत्तरी जिला प्रशासन, पुलिस विभाग और संबंधित विभागों से संपर्क किया है. उन्होंने जिलाधिकारियों को प्रभावित क्षेत्रों में फौरन राहत एवं बचाव कार्य चलाने का निर्देश दिया था. सिक्किम के मुख्यमंत्री अरुणाचल प्रदेश सरकार के मंत्रिमंडल के शपथ ग्रहण समारोह में भाग लेने के लिए इटानगर में है.

(अस्वीकरण : सभी फ़ोटो सिर्फ खबर में दिए जा रहे तथ्यों को सांकेतिक रूप से दर्शाने के लिए दिए गए है । इन फोटोज का इस खबर से कोई संबंध नहीं है। सभी फोटोज इंटरनेट से लिये गए है।)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *