April 16, 2024
Sevoke Road, Siliguri
उत्तर बंगाल लाइफस्टाइल सिलीगुड़ी

गुटका Lover ने बनाया सिलीगुड़ी को दागदार !

सिलीगुड़ी वासी सिलीगुड़ी को बना रहे हैं दागदार, यह वे लोग हैं जो सरकार का माल दरिया में डाल जैसे पंक्ति को सच मानते हैं | देखा जाए तो सिलीगुड़ी अपने आप में एक अलग पहचान रखने वाला शहर है, पूर्वी उत्तर भारत का प्रवेश द्वार के अलावा चार टी नाम से जाना जाने वाला सिलीगुड़ी शहर टी, टूरिज्म ट्रांसपोर्ट और टिंबर के लिए देश विदेश में विख्यात है | देश विदेश से पर्यटक सिलीगुड़ी आते हैं और यहां कुछ देर विश्राम कर अपनी गंतव्य की ओर बढ़ जाते हैं | देखा जाए तो पर्यटकों को भी सिलीगुड़ी काफी भाता है, क्योंकि यहां घूमने लायक स्थान वह मौज मस्ती के सारे साधन उपलब्ध है | शहर से 5 से 7 किलोमीटर की दूरी से हरियालियां शुरू हो जाती है, वहीं शहर के अंदर भी कई सारे पार्क और धार्मिक स्थल है जो पर्यटकों को काफी अच्छे लगते हैं | इसके अलावा मौज-मस्ती, पार्टी, डिस्को, पब पसंद करने वाले लोग भी सिलीगुड़ी को काफी पसंद करते हैं | पर्यटकों का भी मानना है कि, सिलीगुड़ी एक शांतिप्रिय स्थल है यहां आकर उन्हें काफी सुकून मिलता है | इसके अलावा पहाड़ी क्षेत्र के नजदीक होने के कारण सिलीगुड़ी का मौसम भी प्राय सुहाना ही रहता है | सिलीगुड़ी से ही स्पष्ट रूप से कंचनजंगा की चोटी भी देखने को मिल जाती है |
वहीं दूसरी ओर सिलीगुड़ी के मेयर गौतम देब भी सिलीगुड़ी की सुंदरीकरण पर विशेष ध्यान दे रहे हैं | वे लगातार सिलीगुड़ी को विकसित करने की दिशा पर कदम बढ़ा रहे है |
देखा जाए तो शहर में बिना नंबर के टोटो की तादाद लगातार बढ़ती जा रही है और सिलीगुड़ी में ट्रैफिक समस्या का मूल कारण भी इन टोटो को बताया जा रहा है | इस दिशा पर भी मेयर गौतम देब नजर बनाए हुए हैं | वह लगातार बैठक द्वारा बिना नंबर के टोटो के खिलाफ जल्द कार्रवाई करनी की बात बता रहे है | वहीं दूसरी ओर नजर घुमाए तो सिलीगुड़ी शहर में बिजली के तार मकड़ी की जाल की तरह फैली हुई हैं, जो देखने में काफी भद्दे तो लगता ही हैं, उसके उपरांत बिजली के झूलते हुए तार कभी भी किसी बड़ी दुर्घटना को न्योता दे सकती हैं | मेयर ने इस विषय को लेकर भी बिजली वितरण विभाग के साथ बैठक की, साथ ही उन्होंने बताया कि, शहर में अब बिजली के अंदर ग्राउंड सेवा शुरू की जाएगी | उन्होंने यह भी जानकारी दी कि, शहर के 17 वार्डों में पहले अंडरग्राउंड बिजली सेवा की शुरुआत की जाएगी | बता दे कि, सिलीगुड़ी के सौंदर्य करण के लिए सिलीगुड़ी नगर निगम एवं एसजेडीए पूरी तरह से जुटे हुए हैं | सिलीगुड़ी में ट्रैफिक जाम की समस्या को नियंत्रण में रखने के लिए सड़कों का चौड़ीकरण तो वही फ्लावर का निर्माण किया जा रहा है |
बता दे कि, 12 दिसंबर को सिलीगुड़ी में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की सभा हुई थी | इसी के मद्देनजर शहर के फ्लावर और डिवाइडरों को रंग गया था, लेकिन कुछ गुटका प्रेमियों ने रंगे हुए फ्लावर और डिवाइडरों को गुटके की पिक से रंगीन बना दिया | एक ओर तो सरकार लगातार सिलीगुड़ी को सुंदर बनाने की ओर कदम बढ़ा रही है, तो वहीं दूसरी ओर सिलीगुड़ी के कुछ गुटका प्रेमी सिलीगुड़ी को दागदार बना रहे हैं | यदि यह जागरूकता की कमी के कारण कहें, तो शायद यह गलत होगा, क्योंकि सिलीगुड़ी ज्ञानियों का शहर माना जाता है | इस विषय को लेकर एसजेडीए के अध्यक्ष सौरभ चक्रवर्ती ने भी कहा कि, वह जल्द ही इस मामले को देखेंगे और उसके बाद निर्णय लेंगे | वहीं दूसरी ओर सिलीगुड़ी नगर निगम के डिप्टी में रंजन सरकार ने भी कहा कि, सड़कों से गुजरने के दौरान इस मामले पर उनकी नजर पड़ी, नगर निगम एवं एसजेडीए की ओर से सौंदर्यकरण किया जा रहा है, लोगों में जागरूकता की कमी के कारण सिलीगुड़ी की यह दशा हो रही है, इस मामले को लेकर जागरूकता फैलाई जाएगी | अब सवाल यह उठता है कि, क्या इस मामले को लेकर नगर निगम को जागरूकता फैलाने की जरूरत है | पान और गुटका खाकर कहीं भी पिक फेंक देना, यह शहर वासियों की लापरवाही को दर्शाता है, कहीं सिलीगुड़ी शहर भी पढ़ें-लिखें गवारों की नगरी तो नहीं बन गई, जिन्हें हर मामले में जागरूकता की जरुरत पड़ रही है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

DMCA.com Protection Status