April 14, 2024
Sevoke Road, Siliguri
उत्तर बंगाल दार्जिलिंग राजनीति सिलीगुड़ी

‘अगर कोई मुझे चार्ली चैपलिन कहता है तो मैं हूं चार्ली चैपलिन’- गोपाल लामा

ऐसा लगता है कि चार्ली चैपलिन का मुद्दा शांत होने का नाम नहीं ले रहा है. इस मुद्दे को मजाक के तौर पर दार्जिलिंग के भाजपा विधायक नीरज जिंबा ने उठाया था और यह तेजी से वायरल हो गया. नीरज जिंबा ने तृणमूल कांग्रेस के उम्मीदवार गोपाल लामा के लिए यह मजाक किया था. जिसे मीडिया ने उठाया और अब तृणमूल कांग्रेस ने इसे सकारात्मक रूप से लेना शुरू कर दिया है.

इसका संकेत कल ही मिल चुका था. तृणमूल कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं में शामिल सिलीगुड़ी नगर निगम के मेयर गौतम देव ने अपनी प्रतिक्रिया में कहा था कि चार्ली चैपलिन एक महान अभिनेता थे. गौतम देव ने संकेत दे दिया था कि तृणमूल कांग्रेस नीरज जिंबा के व्यंग्य को सकारात्मक रूप से लगी और जनता में भुनाएगी. आज तृणमूल कांग्रेस के छोटे से बड़े नेताओं के भी बयान इसी ओर इशारा करते हैं.

तृणमूल कांग्रेस के उम्मीदवार गोपाल लामा ने कहा कि चार्ली चैपलिन जैसे अभिनेता विरले ही पैदा होते हैं. उनका इशारा साफ धा कि अगर कोई मुझे चार्ली चैपलिन कहता है तो इसमें मुझे गर्व की अनुभूति होती है. इसमें गलत ही क्या है. पापिया घोष ने कहा कि भाजपा के नेता किसी को कुत्ता कह रहे हैं तो किसी को चार्ली चैपलिन. यह उनकी संस्कृति है. कुल मिलाकर भाजपा विधायक नीरज जिंबा के गोपाल लामा के प्रति किए गए कमेंट को तृणमूल कांग्रेस ने सकारात्मक रूप से लिया है.

आज नामांकन के आखिरी दिन कांग्रेस उम्मीदवार मुनीष तमांग ने भी अपना नामांकन दाखिल कर दिया. मुनीष तमांग के साथ कांग्रेस नेता शंकर मालाकार, अजय एडवर्ड समेत कई नेता और भारी संख्या में कार्यकर्ता उपस्थित थे. विनय तमांग मुनीष तमांग की उम्मीदवारी का विरोध कर रहे हैं. पहाड़ में तय हो चुका है कि इस बार त्रिकोणात्मक मुकाबला होने वाला है. लेकिन मुख्य मुकाबला भाजपा और तृणमूल कांग्रेस के बीच ही है.

भाजपा उम्मीदवार राजू बिष्ट को विमल गुरुंग का साथ मिल जाने से पहाड़ में उनका समर्थन दिखने लगा है. विमल गुरुंग का अंदाज बिल्कुल बदल चुका है. वह अपने पुराने तेवर में नजर आ रहे हैं. जिसके लिए वह जाने भी जाते हैं. गोरखालैंड और गोरखा उनके इर्द-गिर्द रहता है. विमल गुरुंग राजू बिष्ट पर कुछ मीठा और कुछ तीखा हमला भी करते हैं. राजू बिष्ट ने विमल गुरुंग की उंगली पकड़कर राजनीति में कदम रखा था. राजू बिष्ट को अच्छी तरह पता है कि पहाड़ में विमल गुरुंग ही उनकी नैया पार लगा सकते हैं. आजकल विमल गुरुंग के इशारे पर वह बहुत संभल कर बोलते हैं.

गोपाल लामा का पहाड़ के साथ-साथ समतल में भी चुनाव प्रचार तेज हो गया है. पहाड़ में अनित थापा मोर्चा संभाल रहे हैं. समतल में तृणमूल कांग्रेस के स्थानीय नेता और उनके साथ चलते दिखते हैं मेयर गौतम देव. दार्जिलिंग संसदीय क्षेत्र में यूं तो तीनों प्रमुख दलों के पोस्टर और पंफलेट देखे जा सकते हैं. लेकिन पोस्टर युद्ध में तृणमूल कांग्रेस के उम्मीदवार गोपाल लामा सबसे आगे चल रहे हैं.

सिलीगुड़ी के विभिन्न इलाकों में तृणमूल कांग्रेस, बीजेपी और कांग्रेस उम्मीदवार के पोस्टर देखे जा सकते हैं. सभी नेताओं और उम्मीदवारों द्वारा जनता को भरोसा दिया जा रहा है. लेकिन जनता अपने उम्मीदवारों की बात सुन रही है. पर वह वोट किसे देगी, अभी यह राज नहीं खोलेगी. जैसे-जैसे चुनाव नजदीक आता जाएगा, राजनीतिक दलों के उम्मीदवारों के एक से बढ़कर एक रंग देखने को मिलेंगे. अंतिम फैसला जनता 26 अप्रैल को करेगी.

(अस्वीकरण : सभी फ़ोटो सिर्फ खबर में दिए जा रहे तथ्यों को सांकेतिक रूप से दर्शाने के लिए दिए गए है । इन फोटोज का इस खबर से कोई संबंध नहीं है। सभी फोटोज इंटरनेट से लिये गए है।)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

DMCA.com Protection Status