June 22, 2024
Sevoke Road, Siliguri
लाइफस्टाइल

…अगर आपने ऐसे शौक पाल रखे हैं तो सावधान हो जाएं!

यह घटना उन लोगों की आंख खोल देने वाली है, जो शराब और सिगरेट का शौक रखते हैं. शराब और सिगरेट कैसे एक घर परिवार और व्यक्ति की जिंदगी को बर्बाद करती है, यह घटना इसका ज्वलंत प्रमाण है.

दक्षिण कोलकाता के लेक थाना क्षेत्र अंतर्गत डॉक्टर देवधर रहमान रोड में स्थित एक चार मंजिले भवन में सप्तर्षि दे मित्रा नामक एक युवक अपने परिवार के साथ रहता था. वह एक प्राइवेट कंपनी में काम करता था. सप्तर्षि देव मित्रा सिगरेट और शराब का शौकीन था. वह रोज रात को शराब पीकर घर आता और सो जाता था.

घर वाले उससे परेशान रहते थे. जब घर के सभी लोग खा पी कर अपने-अपने कमरे में सो जाते,तब नशे में लड़खडाते हुए घर पहुंचता और दरवाजा खोल कर कमरे में बंद हो जाता था. कमरे में ही उसका खाना रख दिया जाता था. परिवार के लोगों ने अब उसकी चिंता करनी छोड़ दी थी. क्योंकि उनके समझाने का उस पर कोई असर नहीं होता था.

म॔गलवार की देर रात जब घर के लोग गाढी निंद्रा में सो रहे थे, तभी बिल्डिंग के एक भाग में आग लग गई. धुआं और चिंगारी महसूस करके घर के लोग हड़बड़ा कर उठ गए तो उन्होंने देखा कि सप्तर्षि के कमरे में आग लगी थी और वहीं से धुआं उठ रहा था. घर वालों ने भाग कर सप्तर्षी के कमरे का दरवाजा खोला. उसके कमरे में आग लग चुकी थी. पूरा कमरा धुआं धुआं हो गया था. दरवाजा खोलते ही धुआं तेजी से बाहर निकलने लगा.

दमकल विभाग और लेक टाउन पुलिस को सूचना दी गई. तुरंत ही दमकल विभाग की दो गाड़ियां और पुलिस मौके पर पहुंच गई. दमकल विभाग की गाड़ियों ने आग बुझाने की कोशिश शुरू की. इसी दौरान सप्तर्षि पर नजर पड़ी तो उसे बचाने के लिए दमकल विभाग ने कोशिश की. किसी तरह से सप्तर्षि को कमरे से बाहर निकाला गया. युवक अचेत था. पुलिस ने उसे एसएसकेएम अस्पताल पहुंचाया, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया.

दमकल विभाग को आग पर नियंत्रण पाने में लगभग 2 घंटे लग गए. इस बीच पुलिस की प्रारंभिक छानबीन में पता चला है कि सप्तर्षि को शराब और सिगरेट पीने की आदत लग चुकी थी.वह रोज रात को शराब के नशे में घर लौटता था और खाना खाकर स्मोकिंग करता और फिर सो जाता था. मंगलवार की रात जब सप्तर्षि घर लौटा तो रात ज्यादा हो चुकी थी. उसने अत्यधिक मात्रा में शराब पी रखी थी. इसलिए वह नशे में बड़बडा रहा था.

अपने कमरे में लौटकर सप्तर्षि ने खाना भी नहीं खाया और सोफे पर बैठकर सिगरेट पीने लगा. इसी क्रम में उसकी आंख लग गई. जिसके कारण वह सिगरेट को बुझा नहीं सका. सुलगती हुई सिगरेट ने ही इस अग्निकांड को जन्म दिया, जिसमें खुद सप्तर्षि की जान तो गई ही, घर में रखा सारा सामान भी जलकर भस्म हो गया. लेक टाउन पुलिस मामले की जांच की जा रही है कि कमरे में आग कैसे लगी. पुलिस ने बताया कि कमरे की फोरेंसिक जांच कराई जाएगी. पूरे परिवार में शोक की लहर व्याप्त है.

तो देखा आपने, किस तरह से शराब और सिगरेट की बुरी लत से एक हसता खेलता परिवार तबाह हो गया. अगर आपके आसपास परिवार और समाज में ऐसे तत्व रहते हो तो उनसे सावधान रहें. खबर समय के दर्शकों और पाठकों को सचेत करने के लिए ही यह घटना प्रकाशित और प्रसारित की जा रही है.

(अस्वीकरण : सभी फ़ोटो सिर्फ खबर में दिए जा रहे तथ्यों को सांकेतिक रूप से दर्शाने के लिए दिए गए है । इन फोटोज का इस खबर से कोई संबंध नहीं है। सभी फोटोज इंटरनेट से लिये गए है।)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *