April 19, 2024
Sevoke Road, Siliguri
उत्तर बंगाल राजनीति

चुनाव से पहले ही सिक्किम में खिला ‘कमल’!

सिक्किम में लोकसभा और विधानसभा का चुनाव होगा. राज्य में किसकी सरकार बनेगी, यह तो वक्त आने पर ही पता चलेगा. लेकिन चुनाव से पहले ही सिक्किम में अपनी पकड़ बढ़ाने में भाजपा सफल साबित हो रही है. राजनीतिक विश्लेषकों की माने तो भाजपा सिक्किम में एक नया इतिहास रचने जा रही है.

अगले महीने सिक्किम में राज्यसभा की एक सीट खाली हो रही है. सिक्किम में राज्यसभा की एकमात्र सीट है. राज्यसभा की सीट पर आमतौर पर सत्तारूढ पार्टी का प्रतिनिधि ही विजयी होता है. या फिर ऐसा दल जो एक अपेक्षित संख्या बल रखता है. सिक्किम में हमेशा ही सत्तारूढ पार्टी का ही उम्मीदवार राज्यसभा में जाता रहा है. पहली बार सिक्किम विधानसभा में भाजपा का एकमात्र विधायक राज्यसभा का उम्मीदवार होने जा रहा है. जिसको विधानसभा में 19 विधायक वाली सत्तारूढ पार्टी की सरकार समर्थन कर सकती है.

भाजपा के उक्त विधायक का नाम दोरजी छिरिंग लेप्चा है, जिन्हें राज्यसभा का उम्मीदवार बनाया गया है. दोरजी छिरिंग लेप्चा पहले एसडीएफ में थे. बाद में वे भाजपा में शामिल हुए. हालांकि देखा जाए तो सिक्किम विधानसभा में भाजपा के कुल 12 विधायक हैं. 2019 के विधानसभा चुनाव के तुरंत बाद दोरजी छिरिंग लेप्चा एसडीएफ के 9 विधायकों के साथ सिक्किम डेमोक्रेटिक फ्रंट से अलग होकर भाजपा में शामिल हो गए थे. दो सीटों पर उपचुनाव जीतने के बाद सिक्किम विधानसभा में भाजपा की सीटें 10 से बढ़कर 12 हो गई है.

यह वही दोरजी छिरिंग लेप्चा हैं, जिसने भाजपा को 32 सदस्यीय सिक्किम विधानसभा में एक भी सीट जीते बिना प्रवेश करने में मदद की. सिक्किम में भाजपा को आगे बढ़ाने तथा एक सम्मानजनक स्थान दिलाने में लेप्चा ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है. भारतीय जनता पार्टी के केंद्रीय नेताओं ने भी इसे स्वीकार किया है. यही कारण है कि भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव अरुण सिंह ने राज्यसभा उम्मीदवार के रूप में श्री लेपचा के नाम की घोषणा की.

सिक्किम में मौजूदा राज्यसभा सदस्य सिक्किम डेमोक्रेटिक फ्रंट के हिस्से लाचुंगपा है, जिनका कार्यकाल फरवरी 2024 में समाप्त हो रहा है.श्री लेप्चा को भाजपा की ओर से उम्मीदवार बनाने के साथ ही उनकी जीत पक्की हो गई है. कुछ ही दिन पहले सिक्किम के मुख्यमंत्री प्रेम सिंह तमांग और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के साथ मुलाकात हुई थी. सूत्र बता रहे हैं कि दोनों की बातचीत और बैठक में राज्यसभा उम्मीदवार को लेकर भी चर्चा हुई थी. इसका चुनावी गणित आगामी विधानसभा चुनाव में भी देखा जा सकता है.

दोरजी छिरिंग लेप्चा 66 साल के हो चुके हैं. वह पैकयोंग जिले के गनथांग माचोंग विधानसभा सीट से प्रतिनिधित्व करते हैं. 2014 से लेकर 2019 तक चामलिंग की सरकार में लोक निर्माण और परिवहन मंत्री रह चुके हैं. भाजपा के साथ आने के बाद ही सिक्किम में भाजपा की पहचान और महत्व बढा है. अब कोई भी दल सिक्किम में भाजपा की उपेक्षा करके लड़ाई नहीं जीत सकता है. राज्य में इस समय भाजपा सिक्किम क्रांतिकारी मोर्चा की सरकार का समर्थन कर रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

DMCA.com Protection Status