April 16, 2024
Sevoke Road, Siliguri
उत्तर बंगाल कालिम्पोंग जुर्म

सिक्किम में एक हफ्ते में महिला से दिनदहाड़े दुष्कर्म की दूसरी बड़ी वारदात!

सिक्किम का रानीपुल थाना इस समय सुर्खियों में है. यहां एक नाबालिक बालिका के साथ दुष्कर्म और मारपीट की दूसरी बड़ी घटना सामने आई है. इससे पहले 28 दिसंबर को एक कॉलेज छात्रा के साथ सामूहिक दुष्कर्म की वारदात इसी थाना क्षेत्र में हुई थी. एक हफ्ते में ही महिलाओं के साथ छेड़छाड़, दुष्कर्म और मारपीट की घटना ने सिक्किम जैसे शांत प्रदेश में भूचाल ला दिया है.

आखिर सिक्किम जैसे शांत और सुरक्षित प्रदेश में महिलाओं के साथ छेड़छाड़ और दुष्कर्म की घटनाएं क्यों बढ़ रही है? सवाल तो यह भी है कि एक ही थाना क्षेत्र के अंतर्गत एक पर एक दो वारदातें हुई है? ताज्जुब की बात तो यह है कि दूसरी घटना दिनदहाड़े हुई है. आखिर दुष्कर्मियों का हौसला इतना बुलंद क्यों हुआ है? 28 दिसंबर की वारदात में रानीपुल थाना ने एक युवती के साथ सामूहिक दुष्कर्म की घटना में तीन युवकों की गिरफ्तारी की है, जिन्हें रिमांड में लेकर पुलिस पूछताछ कर रही है.

इस घटना के बीते एक हफ्ता भी नहीं हुआ कि महिला के साथ दूसरी बड़ी दुष्कर्म और मारपीट की वारदात सामने आई है. वह भी दिनदहाड़े. जब सिक्किम में लोगों की आवाजाही तथा गतिविधियां बढ़ जाती है.सबसे बड़ी हैरानी की बात तो यह है कि यह सभी वारदातें रानीपुल क्षेत्र में हुई है. बताया जा रहा है कि गंगटोक निवासी एक बालिका रानीपुल स्थित फार्मेसी जा रही थी. यह घटना 1 दिसंबर, दोपहर 1:30 बजे की है.

जैसे ही युवती साजोंग रूमटेक गेट के पास पहुंची, वैसे ही एक व्यक्ति ने चेहरे पर नकाब लगाकर उसे पीछे से रोका. इससे युवती घबरा गई और उसने अपरिचित नकाबपोश का विरोध किया. इस पर नकाबपोश व्यक्ति ने युवती के साथ जबरदस्ती करनी शुरू कर दी. इसके साथ ही उसके साथ मारपीट भी की गई. यह सब चल ही रहा था कि उसी समय दो और लड़के वहां आ गए और लड़की के साथ मनमानी करने लगे. तीन-तीन युवकों के बीच घिरी युवती उनसे बचाव के लिए हाथ पांव मार रही थी. लेकिन लड़के उसके साथ जोर जबरदस्ती कर रहे थे.

इसी दौरान वहां से एक वाहन गुजरा और उसकी आवाज सुनते ही युवती को छोड़कर तीनों लड़के वहां से फरार हो गए. किसी तरह से वहां से हिम्मत करके युवती रानीपुल थाना पहुंची और अपने साथ हुई वारदात की जानकारी थाना अधिकारी को दी. पीड़िता के बयान के आधार पर पुलिस ने भारतीय दंड विधान की धारा 1860 के अंतर्गत 354, पोस्को की धारा 8 के तहत मामला दर्ज तुरंत ही मामले की छानबीन शुरू कर दी.

रानीपुल थाना की पुलिस ने सर्वप्रथम अपराध स्थल का मुआयना किया. वहां सीसीटीवी फुटेज से पुलिस को सबूत तलाशने में काफी मदद मिली. पुलिस ने इसके साथ ही गवाहों के बयान भारतीय दंड विधान की धारा 61 के तहत दर्ज किया. दुष्कर्म की शिकार युवती का मेडिकल टेस्ट कराया जा रहा है. रानीपुल पुलिस ने इसे एक चुनौती के रूप में लिया है. आरोपियों और अज्ञात युवकों की तलाश की जा रही है. पुलिस जल्द ही आरोपियों को धर दबोचने की तैयारी में जुट गई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

DMCA.com Protection Status