July 12, 2024
Sevoke Road, Siliguri
जुर्म

सीमांत क्षेत्र से दो भारतीय नागरिक गिरफ्तार और मवेशी व प्रतिबंधित वस्तुएँ जब्त !

सीमा सुरक्षा बल के सीमा प्रहरी भारत-बांग्लादेश की सीमा पर अजय सिंह, महानिरीक्षक, सीमा सुरक्षा बल, उत्तर बंगाल फ्रंटियर के नेतृत्व में मुस्तैदी से तैनात हैं ताकि राष्ट्र विरोधी तत्वों के तस्करी और घुसपैठ के प्रयास को विफल किया जा सके।
05 फरवरी को लगभग पश्चिम बंगाल के दक्षिण दिनाजपुर जिले में भारत-बांग्लादेश सीमा पर तैनात उत्तर बंगाल फ्रंटियर के रायगंज सेक्टर के अंतर्गत बीएसएफ की 61 बटालियन बीएसएफ की बीओपी गोविंदपुर के सीमा प्रहरियों ने गुप्त सूचना पर कार्रवाई करते हुए 01 भारतीय नागरिक सुभंकर मंडल जो दक्षिण दिनाजपुर का निवासी हैं उसे उसके घर से गिरफ्तार किया गया और फेंडेग्रिप की 472 बोतलें, 27,000 बांग्लादेशी टका, 50,000 रुपये भारतीय मुद्रा और 01 मोबाइल उसके घर से बरामद किया गया | जब्त सामानों के साथ गिरफ्तार भारतीय नागरिक को पीएस हिली को सौंप दिया गया है।

एक अन्य घटना में, 5 फरवरी को लगभग पश्चिम बंगाल के दक्षिण दिनाजपुर जिले में भारत-बांग्लादेश सीमा पर तैनात उत्तर बंगाल फ्रंटियर के रायगंज सेक्टर के अंतर्गत 164 बटालियन बीएसएफ की बीओपी डाकमलंचा के सीमा प्रहरियों ने गुप्त सूचना पर कार्रवाई करते हुए 01 भारतीय नागरिक गफ्फार सरकार (53 वर्ष) दक्षिण दिनाजपुर निवासी को फेंसेडिल की 70 बोतलें के साथ उस समय पकड़ा गया जब वह इन फेंसेडिल की बोतलों को भारत से बांग्लादेष तस्करी करने की कोशिश कर रहा था। जब्त वस्तुओं के साथ पकड़े गए भारतीय नागरिक को पीएस तपन को सौंप दिया गया है ।

उपरोक्त के साथ 30 जनवरी से 6 फरवरी तक उत्तर बंगाल फ्रंटियर सीमा सुरक्षा बल के अधीन वाहिनीयों के सीमा प्रहरियों ने अपने-अपने सीमावर्ती क्षेत्रों में तस्करी विरोधी अभियान चलाया जिसमें राष्ट्र विरोधी तत्वों के तस्करी के नापाक मंसूबों को विफल करते हुए विभिन्न सीमा क्षेत्रों से 59 मवेशी, फेंसेडिल की 661 बोतलें, फेंसग्रिप की 2012 बोतलें, फेयरडिल की 248 बोतलें, 27,000 बांग्लादेशी टका, 50,000 रुपये भारतीय मुद्रा और अन्य वर्जित सामान जब्त किया गया। जब्त सामानों की कुल कीमत रु14,89,402/- रुपये आँकी गई है। उपरोक्त वस्तुओं को सीमा सुरक्षा बल के सीमा प्रहरियों ने उस समय जब्त किया, जब तस्कर इन वस्तुओं को भारत से बांग्लादेश तस्करी करने की कोशिश कर रहा था ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *