February 26, 2024
Sevoke Road, Siliguri
Uncategorized

घर बैठे कमाएं लाखों रुपए! कभी ना…!

सिलीगुड़ी निवासी राघव के मोबाइल पर शुक्रवार को एक मैसेज आया. क्या आप घर बैठे अतिरिक्त कमाई करना चाहते हैं तो फौरन ज्वाइन करें हमारा ग्रुप… इसमें आपको ज्यादा कुछ नहीं करना है. ग्राहकों के पेज को फॉलो करना है. रोजाना 20 से 25 टास्क दिए जाएंगे. प्रत्येक टास्क पर ₹70 मिलेंगे….

आपके मोबाइल पर भी इस तरह के मैसेज आ सकते हैं . जिसमें किसी कंपनी की ओर से ऑफर किया जाता है कि आप घर बैठे अथवा पार्ट टाइम काम करके लाखों रुपए महीना कमा सकते हैं. कई लोग तो ऐसे मैसेज को नेगलेक्ट कर देते हैं जबकि कुछ युवा अधिक कमाई के चक्कर में उनका ऑफर स्वीकार कर लेते हैं.

ऐसे टास्क में प्रत्येक दिन अलग-अलग लोगों के पेज के इंस्टाग्राम हैंडल किए जाते हैं. इन्हें फॉलो करके स्क्रीनशॉट सेंड करना होता है. उसके बाद कंपनी की ओर से आपके अकाउंट में पैसे भेजे जाते हैं. जब आपके अकाउंट में पैसे आने शुरू हो जाते हैं तब आपको ऐसा लगता है कि काश! यह पहले हो गया होता, तो कम से कम आज तक उनकी स्थिति काफी अच्छी हो गई होती! कई युवा ऐसी अतिरिक्त कमाई को अपने दोस्तों में भी शेयर नहीं करते. कारण उन्हें लगता है कि अगर उनके दोस्तों ने भी यह काम शुरू कर दिया तो उनकी कमाई घट जाएगी!

ऐसे धंधे में दिन में आप काम करते हैं और शाम को आपके अकाउंट में टास्क के आधार पर पैसे जमा करा दिए जाते हैं ताकि कंपनी पर आपका भरोसा बना रहे. आपको लगता है कि सब कुछ ठीक चल रहा है. कुछ कंपनियों की ओर से यूट्यूब वीडियो लाइक करने को कहा जाता है.इसके लिए भी उनकी ओर से पैसे दिए जाते हैं. कुछ दिनों तक यह खेल चलता है. उसके बाद कंपनी व्यक्ति को टेलीग्राम ग्रुप में ऐड कर देती है. इसमें कई लोग पहले से ही जुड़े होते हैं. जब आप ग्रुप में ऐड कर दिए जाते हैं तब आपसे कहा जाता है कि अगर और पैसे कमाने हैं तो कुछ टास्क दिए जाएंगे, जिन्हें ग्रुप के साथ मिलकर पूरा करना है!

यहां व्यक्ति को पहले से अधिक कमाई होने लगती है. अब तक व्यक्ति को कंपनी पर भरोसा हो जाता है. इसके बाद वह खेल शुरू होता है, जो आपको तबाही की ओर ले जाता है. टेलीग्राम ग्रुप का एडमिन आपके मोबाइल पर एक प्रोफेशनल मैसेज भेजता है. जिसमें ट्रेडिंग के तौर तरीके बताए जाते हैं. कहा जाता है कि कुछ पैसे डालने से उसका कुछ प्रतिशत इंसेंटिव के तौर पर दिया जाएगा. यह खेल कुछ इस सफाई के साथ खेला जाता है कि शिकार को जरा भी संदेह नहीं होता. टेलीग्राम के उक्त ग्रुप का सुपरवाइजर एक क्रिप्टो ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म पर आपका अकाउंट बना देता है. जब आप लिंक क्लिक करके यूजरनेम पासवर्ड डालते हैं तो क्रिप्टो ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म ओपन होता है.

प्लेटफार्म कुछ ऐसा होता है कि आपको कहीं से भी शक शुबहा नजर नहीं आएगा. बिल्कुल असली जैसा दिखेगा, जबकि वास्तव में यह एक मायाजाल होता है. क्रिप्टो ट्रेडिंग के तौर तरीके बताने के बाद टेलीग्राम ग्रुप का एडमिन कुछ विकल्प आपके सामने रखता है. जैसे ₹15000 देने पर ₹16000 मिलेगा. जबकि 40000 जमा कराने पर ₹48000 का लाभ मिलेगा. यहां यह भी बता दूं कि इसके लिए आपको कुछ सेकंड्स का ही समय दिया जाता है. यह भी एक तरह का मायाजाल होता है ताकि शिकार को कहीं से भी ना लगे कि वहां फंसने जा रहा है.

जैसे ही एडमिन ग्रुप के लोगों से पैसे डालने के लिए कहता है तो ग्रुप के लोग पेमेंट की स्क्रीनशॉट ग्रुप में भेजते हैं. यह सब आप को फसाने के लिए तथा भरोसा जीतने के लिए होता है ताकि आपको जरा भी यह न लगे कि आप लुटने जा रहे हैं. पेमेंट की स्क्रीनशॉट देखने के बाद आप भी एडमिन के बताए अनुसार अकाउंट में रकम जमा करा कर स्क्रीनशॉट भेज देते हैं. धोखा यहां भी नहीं होता.

आप जो भी पैसे स्कैमर्स के अकाउंट में ट्रांसफर करते हैं, उतना ही अमाउंट आपके वर्चुअल वॉलेट में दिखने लगता है.आपको यकीन हो जाता है कि आपका पैसा सुरक्षित है और उसमें इजाफा भी हो रहा है. धीरे-धीरे स्कैमर्स के शिकार व्यक्ति अमाउंट बढ़ाता जाता है. एडमिन की ओर से कहा जाता है कि आप जितना पैसा डालेंगे ट्रेडिंग के जरिए उतना ही अमाउंट आपका बढेगा. इसका परिणाम यह होता है कि शिकार व्यक्ति हजार से शुरू करता है और लाखों रुपए तक पहुंच जाता है. बस यहीं से आपके अकाउंट में पैसे आने बंद हो जाते हैं तथा आपने अब तक जितना कमाया भी नहीं होगा, उससे कई गुना ज्यादा एक साथ गवां बैठते हैं.

कई बार आप स्कैमर्स को कहते हैं कि वॉलेट के पैसे अकाउंट में भेज दीजिए. तब स्कैमर्स का जवाब होता है कि जब तक टास्क कंप्लीट नहीं होता, तब तक पैसे बैंक अकाउंट में नहीं भेजे जाएंगे. कई बार तो ऐसा भी होता है कि अपने ही पैसे वापस लेने के लिए व्यक्ति अपने दोस्तों और रिश्तेदारों से कर्ज लेकर स्कैमर्स को भेजता रहता है. स्कैमर्स की ओर से कहा जाता है कि अगर पैसे नहीं डाले गए तो उनका अकाउंट फ्रीज हो जाएगा. आपकी स्थिति सांप छछूंदर की हो जाती है. अगर आपने पैसा नहीं डाला तो अब तक जितना जमा किया है वह सब खत्म हो जाएगा. इसलिए इस स्थिति में स्कैमर्स की बात मानने के अलावा कोई रास्ता नहीं होता.

फिर शुरू होता है हाय तोबा! f.i.r. ,पुलिस थाना, कोर्ट कचहरी का खेल.मामूली रकम गवाने वाले तो पुलिस में जाना नहीं चाहते लेकिन जिनकी ज्यादा रकम लुट जाती है, वही लोग पुलिस में जाते हैं और उसके बाद वर्क फ्रॉम होम स्कैम की सच्चाई सबके सामने आ जाती है.

यह स्टोरी एक लोकप्रिय न्यूज़ चैनल आज तक में प्रसारित आर्टिकल पर आधारित है. खबर समय के पाठकों तथा दर्शकों को जागरूक और सचेत करने के लिए प्रसारित की जा रही है, क्योंकि वर्क फ्रॉम होम स्कैम देशभर में तेजी से हो रहा है.अगर आप इस तरह के झांसे में आ गए तो आपकी तबाही निश्चित है. पुलिस ने ऐसे स्कैमर्स पर नकेल कसने की तैयारी शुरू कर दी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

DMCA.com Protection Status