February 6, 2023
Sevoke Road, Siliguri
Uncategorized

सिलीगुड़ी के बेरोजगार लोगों को आत्मनिर्भर बनाएगी सिलीगुड़ी मेट्रोपॉलिटन पुलिस?

सिलीगुड़ी एक ऐसा शहर है जो लोगों के ‘मिजाज और मजे’ के अनुकूल है. यही कारण है कि सिलीगुड़ी की आबादी दिनों दिन बढ़ती जा रही है. सिलीगुड़ी के अधिकांश लोग छोटे-मोटे व्यापार करके अथवा दुकानों में काम करके रोजी-रोटी कमा रहे हैं. परंतु देश के दूसरे शहरों की तरह यहां भी शिक्षित युवा युवतियों की बेरोजगारी चिंता का विषय है. ऐसे युवाओं को सरकारी नौकरी तो दूर प्राइवेट जॉब भी नहीं मिल रहा है. निराश हो चुके बेरोजगार युवा युवतियों को किसी सहारे की तलाश है. उम्मीद की जा रही है कि सिलीगुड़ी मेट्रोपॉलिटन पुलिस इन बेरोजगार युवा युवतियों की खेवनहार बनेगी.

. सिलीगुड़ी के बारे में कहा जाता है कि यह शहर कोलकाता की कल्चर से ज्यादा प्रभावित होता है. यानी कोलकाता में जो होता है उसका असर सिलीगुड़ी पर पड़ना निश्चित है. कोलकाता पुलिस ने कोलकाता के बेरोजगार युवाओं को आत्मनिर्भर बनाने का अभियान चलाया है. इसके तहत कोलकाता के विभिन्न थाना क्षेत्रों में बेरोजगार युवा युवतियों को स्किल डेवलपमेंट की ट्रेनिंग देने का फैसला किया गया है.

सूत्रों ने बताया कि कोलकाता पुलिस फिर से ‘किरन’ अभियान शुरू कर रही है. इसके तहत कोलकाता के बेरोजगार युवाओं को 8 तरह के स्किल डेवलपमेंट डेवलपमेंट ट्रेनिंग देने का सिद्धांत लिया गया है. इनमें कंप्यूटर एप्लीकेशन, ड्राइविंग, ब्यूटीशियन, रिटेल मैनेजमेंट ,हॉस्पिटैलिटी मैनेजमेंट, इलेक्ट्रिक वायरिंग, होम अप्लायंस रिपेयरिंग, मोबाइल रिपेयरिंग आदि शामिल है. वहां के सभी थाना प्रभारियों को कहा गया है कि वे अपने क्षेत्र के बेरोजगार युवा युवतियों की पहचान कर उनके नाम भेजें.ऐसे युवाओं को ट्रेनिंग देकर उन्हें आत्मनिर्भर बनाने की कोलकाता पुलिस की योजना है.

दूसरी ओर सिलीगुडी मेट्रोपॉलिटन पुलिस द्वारा पूर्व में कुछ इसी तरह की योजना चलाई गई. सभी थाना स्तर पर भटके हुए, बेरोजगार युवा युवतियों को सही राह दिखाने के लिए पुलिस के द्वारा अभियान चलाए जाते रहे हैं. पूर्व सिलीगुड़ी पुलिस कमिश्नर गौरव शर्मा के नेतृत्व में सिलीगुड़ी मेट्रोपॉलिटन पुलिस ने सिलीगुड़ी के युवाओं की किस्मत बदलने की भरसक चेष्टा की थी. परंतु जिस तरह की व्यापक योजना यहां चलाने की जरूरत है, वह आज तक नहीं हो सका है.

जानकार मानते हैं कि अब कोलकाता पुलिस से प्रेरणा लेकर सिलीगुड़ी मेट्रोपॉलिटन पुलिस, हो सकता है कि सिलीगुड़ी के बेरोजगार लोगों के लिए व्यापक स्तर पर आत्मनिर्भर योजना लाए. अगर ऐसा किया जाता है तो सिलीगुड़ी के सैकड़ों युवा युवतियों को लाभ होगा. इसके साथ ही सिलीगुड़ी पुलिस और आम नागरिकों के बीच संबंध अच्छे होंगे.अब देखना है कि सिलीगुड़ी मेट्रोपॉलिटन पुलिस पर कोलकाता पुलिस के अभियानों का कितना असर होता है. यह भी देखना होगा कि कोलकाता पुलिस अपने प्रोजेक्ट किरण पर कितना काम कर पाती है.

अगर कोलकाता पुलिस की योजना सफल रहती है तो निश्चित रूप से इसका असर सिलीगुड़ी मेट्रोपॉलिटन पुलिस पर भी होगा. हो सकता है कि नए साल में सिलीगुड़ी मेट्रोपॉलटन पुलिस सिलीगुड़ी के बेरोजगार युवाओं को आत्मनिर्भर बनाने की कोई नई योजना लेकर आए. जानकार तो यही मानते हैं. बहरहाल सिलीगुड़ी के बेरोजगार युवाओं को निराश होने की जरूरत नहीं है. देखते हैं आगे आगे क्या होता है. सिलीगुड़ी मेट्रोपॉलिटन पुलिस से उम्मीद तो रखनी ही चाहिए.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *