April 16, 2024
Sevoke Road, Siliguri
उत्तर बंगाल जलपाईगुड़ी दार्जिलिंग राजनीति सिलीगुड़ी

लोकसभा चुनाव के लिए दार्जिलिंग और जलपाईगुड़ी पहुंचे केंद्रीय बल!

अभी देश में लोकसभा चुनाव की घोषणा भी नहीं हुई. लेकिन उससे पहले केंद्रीय बलों की तैनाती आज से बंगाल समेत देश के विभिन्न राज्यों में शुरू हो गई है. केंद्रीय बलों के जवान आज जलपाईगुड़ी और दार्जिलिंग भी पहुंचे. इस बीच दार्जिलिंग लोकसभा क्षेत्र में संवेदनशील मतदान केदो की पहचान शुरू हो चुकी है. आज केंद्रीय बलों की कई कंपनियां यहां पहुंच रही हैं. इनकी तैनाती सिलीगुड़ी के साथ ही पहाड़ के विभिन्न क्षेत्रों में होगी.

चुनाव को देखते हुए केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल के तीन लाख 40 हजार से अधिक जवान आज से देश भर में तैनात हो रहे हैं. योजना के अनुसार 1 मार्च से शुरू हो रही इस मुहिम में संवेदनशील और अति संवेदनशील निर्वाचन क्षेत्र में चुनाव पूर्व तैनाती के रूप में लगभग 2000 कंपनियों को तैनात किया जा रहा है. इनमें से लगभग डेढ़ लाख जवान सड़कों से और रेल मार्ग से जाएंगे. जबकि सीए पीएफ की पहली इकाई बंगाल के अलावा जम्मू कश्मीर में भी पहुंच रही है. 7 मार्च तक सभी इकाइयों की तैनाती सुनिश्चित हो जाएगी.

सीएपीएफ सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार इकाइयों के कमांडिंग अधिकारियों को चुनाव ड्यूटी संबंधी रवाना होने का आदेश जारी कर दिया गया है. उन्हें निर्देश दिया गया है कि वे तैनाती के लिए भेजे जाने वाले सुरक्षा कर्मियों को चुनाव आयोग द्वारा जारी सामान्य निर्देशों के अलावा उन क्षेत्रों से अवगत कराएं जहां वे चुनाव ड्यूटी के लिए जा रहे हैं. पहले चरण में विभिन्न राज्यों में कानून और व्यवस्था संबंधी चुनौतियों के लिए रिजर्व बल को भेजा जा रहा है.

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार केंद्रीय बलों की तैनाती सिलीगुड़ी पुलिस कमिश्नरेट क्षेत्र में होगी. यहां एक बटालियन की तैनाती होगी. जबकि कालिमपोंग में एक और दार्जिलिंग में तीन कंपनियों की तैनाती की योजना है. इस बीच लोकसभा चुनाव को लेकर तमाम प्रशासनिक तैयारियां शुरू की जा चुकी है. चुनाव आयोग के निर्देशानुसार दार्जिलिंग जिला प्रशासन के द्वारा संवेदनशील मतदान केदो की पहचान का काम शुरू कर दिया गया है.

आज जलपाईगुड़ी में भी केंद्रीय बलों के जवान पहुंचे.उन्हें जलपाईगुड़ी पॉलिटेक्निक कॉलेज में ठहराया जा रहा है. यह सभी सीमा सुरक्षा बल के जवान है और किशनगंज, ठाकुरगंज 19 बटालियन के अंतर्गत हैं. इन सभी जवानों को जलपाईगुड़ी के विभिन्न क्षेत्रों खासकर स्कूल और कॉलेज में ठहराया जा रहा है. सिलीगुड़ी में भी कई स्कूलों की छुट्टी कर दी गई है. क्योंकि केंद्रीय बल के कई जवान सिलीगुड़ी के विभिन्न स्कूलों में भी निवास करेंगे.

सूत्रों ने बताया कि केंद्रीय बलों के जवान मार्च के पहले हफ्ते तक पूरे प्रदेश में विभिन्न लोकसभा क्षेत्र के संवेदनशील स्थानों पर पहुंच जाएंगे. उनको ठहराने की व्यवस्था जिला प्रशासन के द्वारा की जा रही है. चुनाव आयोग के निर्देश के बाद प्रशासन केंद्रीय बलों की आवाजाही के साथ ही परिचालन को भी सुनिश्चित कर रहा है. दार्जिलिंग, कालिमपोंग के अलावा केंद्रीय बल चोपड़ा में भी कैंप करेंगे. दार्जिलिंग और कालिमपोंग क्षेत्र में संवेदनशील बूथों की संख्या अधिक हो सकती है. इसलिए उम्मीद की जा रही है कि केंद्रीय बलों की 9 कंपनियां इन दो जिलों में तैनात की जा सकती है.

आज दो से अधिक कंपनियां दार्जिलिंग, जलपाईगुड़ी के विभिन्न क्षेत्रों में पहुंच चुकी है. शनिवार को ज्यादा संख्या में केंद्रीय बलों की टुकड़ी उत्तर बंगाल के विभिन्न क्षेत्रों में पहुंच चुकी होगी. मिली जानकारी के अनुसार 2 मार्च से लेकर 7 मार्च के बीच उत्तर बंगाल के विभिन्न जिलों में केंद्रीय बलों की कई कंपनियां पहुंच रही हैं. दार्जिलिंग की चुनाव अधिकारी प्रीति गोयल है, जो केंद्रीय बलों की तैनाती और उनकी व्यवस्था को देख रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

DMCA.com Protection Status