December 9, 2023
Sevoke Road, Siliguri
Uncategorized

कूचबिहार हवाईअड्डा चालू होगा!

बागडोगरा हवाई अड्डे के बाद कूचबिहार और हासीमारा हवाई अड्डे को चालू करने की बात बहुत पहले से की जा रही है. लेकिन आज तक कूचबिहार हवाई अड्डा चालू नहीं हो सका. जब राज्य में चुनाव आते हैं तो यह मुद्दा गरमाने लगता है. एक बार फिर से पंचायत चुनाव से पहले भाजपा और केंद्रीय राज्य मंत्री निशित प्रमाणिक ने अपने बयानों से इस मुद्दे को गरमा दिया है.

उन्होंने कहा है कि कूचबिहार हवाई अड्डा शुरू होगा. उन्होंने जोर देकर कहा है कि अगर राज्य सरकार अथवा राज्य की पुलिस सहयोग नहीं करती है तो सी आई एस एफ के द्वारा बागडोगरा हवाई अड्डे से विमान का संचालन किया जाएगा. इस पर तृणमूल ने पलटवार किया है. उत्तर बंगाल विकास मंत्री उदयन गुहा इसे भाजपा की नौटंकी बताते हैं और तृणमूल पर भाजपा के लगाए असहयोग के आरोप के जवाब में कहते हैं कि अगर राज्य सरकार ने सहयोग नहीं किया होता तो रनवे का विस्तार कैसे होता!

उदयन गुहा ने कहा है कि खुद राज्य सरकार चाहती है कि कूच बिहार हवाई अड्डे से विमानों का संचालन शुरू हो. लेकिन केंद्र सरकार हमेशा ही पीछे हट रही है. उदयन गुहा ने कहा कि अगर सचमुच केंद्र सरकार यहां हवाई अड्डे को शुरू करना चाहती है तो इंफ्रास्ट्रक्चर का विकास करना होगा. इसके साथ ही संबंधित अधिकारियों और राज्य सरकार से बात करते हुए विमान सेवा शुरू कर देनी चाहिए. खुद उनकी भी व्यक्तिगत इच्छा है कि यहां से विमान सेवा शुरू हो.

कूचबिहार हवाई अड्डा अब तक क्यों नहीं शुरू किया जा सका है?सच्चाई क्या है? पहले आपको इसकी पृष्ठभूमि जान लेनी चाहिए. 2019 में कूचबिहार हवाई अड्डे की बात उठी थी. उस समय चुनाव था. उसके बाद 2021 में भी चुनाव रैलियों में भाजपा ने कूचबिहार हवाई अड्डे को शुरू करने की बात बताई थी. अब पंचायत चुनाव है. इसलिए भाजपा की ओर से निशित प्रमाणिक एक बार फिर से कूचबिहार हवाई अड्डा शुरू करने की बात कह रहे हैं. राजनीतिक जानकारों के अनुसार पंचायत चुनाव से पहले इस मुद्दे को गरमा कर भाजपा एक बार फिर से इस मुद्दे को भुनाना चाहती है.

निशित प्रमाणिक ने यह कहना शुरू कर दिया है कि एक निजी विमान कंपनी से बातचीत चल रही है. कूचबिहार हवाई अड्डा जमशेदपुर, भुवनेश्वर और कोलकाता के रास्ते जुड़ जाएगा. लेकिन वह यह भी बताते हैं कि जमशेदपुर में कुछ समस्या होने के कारण इसमें विलंब हो रहा है, जिसे तुरंत दूर कर लिया जाएगा. लेकिन विशेषज्ञ यह भी कहते हैं कि खुद कूचबिहार हवाई अड्डे के रनवे में कुछ दोष है जिसके कारण यहां बड़े विमानों को नहीं उतारा जा सकता.

दूसरी ओर निशिथ प्रमाणिक के अनुसार बहुत जल्द यहां से विमान सेवा शुरू हो जाएगी. उससे पहले सारी व्यवस्था ठीक कर ली जाएगी. टीएमसी और बीजेपी के बीच कूचबिहार हवाई अड्डे को लेकर आरोप-प्रत्यारोप के बीच अब यह देखना होगा कि पलड़ा किसका भारी है. क्या उत्तर बंगाल में एक और हवाई अड्डा शुरू होने जा रहा है या फिर यह एक चुनावी स्टंट है? इसका पता अगले कुछ दिनों में लग जाएगा!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

DMCA.com Protection Status