April 21, 2024
Sevoke Road, Siliguri
Uncategorized

शेयर बाजार को भाया नहीं देश का आम बजट!

संसद में पेश आम बजट को सरकार ने देश के विकास के लिए बढ़िया बजट बताया है, तो वहीं विपक्ष की नजर में आम बजट बेकार है. कुछ लोग आम बजट को चुनावी बजट मान रहे हैं तो कई ऐसे भी हैं जो बजट की खामियों को गिनाने में जुटे हुए हैं.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आम बजट को आम और मध्यम वर्ग के लोगों के सपनों के अनुकूल बताया है और कहा है कि टैक्स में राहत देखकर मध्यम वर्ग के जीवन स्तर को ऊंचा बनाया जाएगा उन्होंने आम बजट को किसानों के लिए हितकर बताया है इसके अलावा देश का निर्माण करने वाले लोगों को आर्थिक तौर पर मजबूत बनाने वाला बजट कहा है.

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट को अमृत काल का पहला बजट बताया है.इस बजट में महिला सशक्तिकरण की बात कही गई है. बजट में महिलाओं के लिए विशेष बचत योजना शुरू करने की घोषणा की गई है. बजट में इंफ्रास्ट्रक्चर के विकास को महत्वपूर्ण बताया गया है और इसीलिए इस पर 10 हजार करोड़ रुपए का निवेश का प्रस्ताव रखा गया है. इससे रोजगार के क्षेत्रों में सुधार होगा.

विपक्षी दलों के नेताओं ने बजट को आम आदमी के हितों के अनुकूल नहीं माना है और बजट की काफी आलोचना की है. बहरहाल आम बजट कैसा है, इस पर मिली-जुली प्रतिक्रियाएं आ रही हैं लेकिन अगर शेयर बाजार की दृष्टि से देखें तो भारतीय शेयर बाजार को आम बजट बिल्कुल भी नहीं सुहाया. अन्यथा एक समय बीएसई सेंसेक्स 1000 अंको से ऊपर तक की बढ़त बनाए हुए था, जो अपनी बढ़त गवा कर 150 या इससे अधिक अंकों के साथ बंद हुआ है. जबकि निफ्टी ने तो अपनी सारी बढ़त गंवा दी और लाल निशान में बंद हुआ.

यह सत्य है कि आम बजट में सरकार ने कई घोषणाएं की है जैसे टैक्स में छूट, कृषि संसाधनों का विकास, शिल्प विकास, मत्स्य पालन ,रेलवे विकास, आदिवासियों के लिए नए स्कूल, 2047 तक एनीमिया मुक्त भारत, पर्यटन विकास ,देशभर में मोटे अनाज को बढ़ावा, डिजिटल लाइब्रेरी, देश के कम विकसित ब्लॉक की पहचान व विकास, प्रधानमंत्री आवास योजना के लिए बढ़ाई गई राशि, किसानों के लिए डिजिटल ट्रेनिंग, 140 नर्सिंग कॉलेज खोलने की घोषणा, मुफ्त खाद्यान्न अनाज योजना की अवधि 1 साल तक और बढ़ाया जाना, 50 नए हवाई अड्डे इत्यादि शामिल हैं.

लेकिन इस बजट में आम आदमी को क्या मिला, यह स्पष्ट नहीं हो सका है. टैक्स स्लैब में बदलाव को विशेषज्ञ अपने अपने अंदाज में ले रहे हैं. संसद में बजट पेश करके सरकार ने अपनी पीठ जरूर थपथपा ली है.परंतु संसद से बाहर सड़क और बाजार में आम बजट की उसकी प्रतिक्रिया क्या है, इसका सभी को इंतजार रहेगा. अगर वाकई आम बजट देश की जनता के हित में और पूरी तरह संतुलित बजट है तो आज शेयर बाजार ने अपनी अब तक की सबसे भारी बढ़त को यू नहीं गंवाया होता!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

DMCA.com Protection Status