April 19, 2024
Sevoke Road, Siliguri
उत्तर बंगाल जुर्म सिलीगुड़ी

सिलीगुड़ी में 7,80,000 की साइबर ठगी! विदेशी गिफ्ट ने सिलीगुड़ी की महिला को किया बर्बाद!

सिलीगुड़ी में साइबर ठगी की घटनाएं लगातार बढ़ रही हैं. केवल इसी जनवरी महीने में 15 लाख से ज्यादा साइबर ठगी के मामले सिलीगुड़ी साइबर थाने में पंजीकृत हो चुके हैं. लेकिन पुलिस ने अब तक किसी भी प्रकरण में सफलता नहीं पाई है. अब तो विदेशों से भी साइबर ठग सिलीगुड़ी के लोगों को अपना शिकार बना रहे हैं. इसका ज्वलंत उदाहरण सिलीगुड़ी की कल्पना देवी (बदला हुआ नाम) हैं.

कल्पना देवी सोशल मीडिया पर सक्रिय रहती थी. उनके सोशल मीडिया पर कई दोस्त बन गए थे. उनमें विदेश में रहने वाले भी दोस्त थे. कल्पना देवी के सोशल मीडिया के दोस्तों में एक नाम अनिल का भी था. अनिल अमेरिका में रहता था. पिछले कुछ दिनों से अनिल और कल्पना देवी के बीच अच्छी दोस्ती बन चुकी थी. दोनों घंटो मोबाइल पर चैट करते रहते थे. एक दिन अनिल ने कल्पना देवी से कहा कि वह उसके लिए कुछ उपहार भेजना चाहता है. लेकिन कल्पना देवी ने मना कर दिया.

दरअसल कल्पना अनिल को जानती तक नहीं थी. वह उसका ना तो कोई रिश्तेदार था और ना कोई सगा था. एक अनजान व्यक्ति से उपहार लेना उसे ठीक नहीं लगा. लेकिन जब अनिल ने अपनी दोस्ती की सौगंध दी तो कल्पना ना चाहते हुए भी मना नहीं कर सकी. कुछ दिनों पहले अनिल ने चैटिंग करते हुए कल्पना को गिफ्ट की रसीद भी भेज दी. कल्पना पार्सल का इंतजार करने लगी.

एक दिन कल्पना को किसी ने फोन करके बताया कि वह दिल्ली स्थित कस्टम विभाग से बोल रहा था. उसने बताया कि न्यूयॉर्क से उनका एक पार्सल आया है. क्लीयरेंस के लिए उन्हें पहले स्टांप ड्यूटी का भुगतान करना होगा. उसके बाद पार्सल उन्हें भेज दिया जाएगा. इसके बाद उस व्यक्ति ने कल्पना को कस्टम स्टैंप ड्यूटी भुगतान की प्रक्रिया बता दी. कल्पना ने इसके अनुसार ही स्टांप ड्यूटी का भुगतान कर दिया. यह बात 15 जनवरी 2024 की है.

कल्पना उत्सुक थी कि आखिर उसके सोशल मीडिया फ्रेंड ने उसके लिए क्या भेजा था. क्योंकि अनिल ने गिफ्ट के बारे में उसे कुछ नहीं बताया था. उसने कहा था कि वह उसे सरप्राइज देना चाहता है. वह अनुमान लगा रही थी कि दो दिन में उसे सरप्राइज गिफ्ट मिल जाएगा. लेकिन इसके बाद जो हुआ उसकी तो कल्पना देवी ने कल्पना भी नहीं की थी. वह मुंह के बल गिर पड़ी…

कल्पना देवी के बैंक अकाउंट से 15 जनवरी से ही पैसे कटने शुरू हो गए और यह सिलसिला 17 जनवरी तक तब तक चला जब तक कि उनका बैंक अकाउंट nil नहीं पड़ गया. तीन दिनों में कल्पना देवी के अकाउंट से 7,80000 रू कट गए. रकम बड़ी थी. इसलिए वह यह बात घर वालों से छिपा भी नहीं सकती थी. जब घर वालों को सारी बातों की जानकारी हुई तब वे कल्पना को लेकर सिलीगुड़ी के साइबर थाने में पहुंचे.

सिलीगुड़ी साइबर थाने में कल्पना का यह मामला अपराध संख्या 9/24 दिनांक 20 जनवरी 2024 पंजीकृत कर लिया गया. पुलिस ने भरोसा दिया कि वह इस मामले की तहकीकात करेगी. पुलिस ने अभी तक इस मामले में सिर्फ यह पता लगाने के अलावा कुछ नहीं कर सकी है कि अनिल फर्जी आईडी से चैट करता था और यह उसका असली नाम नहीं है.

कल्पना का यह साइबर मामला एक बानगी है. इसी जनवरी महीने में सिलीगुड़ी साइबर थाने में 15 लाख रु से ज्यादा की साइबर ठगी के मामले पंजीकृत हुए हैं. केवल चार दिनों में साइबर ठगों ने सिलीगुड़ी और आसपास के क्षेत्रो में रहने वाले तीन व्यक्तियों के खाते से 18 लाख 35 हजार और 558 उड़ा लिए हैं. 23 जनवरी 2024 को सिलीगुड़ी साइबर थाने में दो मामले पंजीकृत हुए हैं. साइबर ठगों ने दीपू प्रधान के खाते से 1, 11,0000 से ज्यादा रुपए उड़ा लिए हैं. जबकि न्यू चामटा निवासी जे तमांग के खाते से साइबर लुटेरों ने 4,34,100 रूपये उड़ाए. दो दिनों में साइबर ठगों ने 15 लाख 35 हजार 100 रू अलग-अलग लोगों के खातों से उड़ाए हैं. स

साइबर अपराधियों के हाथ काफी लंबे हैं. वे विदेशों से ही अपने शिकार फांसते हैं और भारतीयों को अपना शिकार बना रहे हैं. म्यांमार, कंबोडिया जैसे देशों में साइबर अपराधियों का एक विशाल नेटवर्क काम कर रहा है. साइबर अपराधी लोन एप, कस्टमर केयर, फर्जी आईडी, सेक्सटारशन, ऑनलाइन शॉपिंग, नौकरी, इंस्टाग्राम फिशिंग मेल, ओटीपी, डाटा हैकिंग इत्यादि विभिन्न तरीकों का इस्तेमाल करके लोगों को लूट रहे हैं. कुछ ही दिनों पहले सिलीगुड़ी साइबर थाने के अधिकारियों के नेतृत्व में अलर्ट टीम ने सिलीगुड़ी के लोगों को साइबर अपराधियों से बचने का एक अभियान चलाया है.

साइबर अपराधी लूटने के कौन-कौन से तरीके अपना सकते हैं, इसके बारे में सिलीगुड़ी साइबर थाने के अधिकारियों ने जानकारी दी थी. लेकिन ऐसा लगता है कि सिलीगुड़ी के लोग इस पर ध्यान नहीं दे रहे हैं और जब साइबर फ्रॉड के शिकार होते हैं, तब पुलिस के पास भाग कर पहुंचते हैं. सिलीगुड़ी साइबर थाने के अधिकारी और उनकी टीम सिलीगुड़ीवासियो को सतर्क कर रहे हैं. खबर समय भी समय-समय पर अपने दर्शकों को सावधान करता रहा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

DMCA.com Protection Status