June 22, 2024
Sevoke Road, Siliguri
उत्तर बंगाल दार्जिलिंग लाइफस्टाइल सिलीगुड़ी

दार्जिलिंग जाने का प्लान बना रहे हैं? जरा रुकिए…

अगर इस समय आप दार्जिलिंग जाने का प्लान बना रहे हैं तो कुछ बातों को ध्यान में रखना जरूरी है. पहली बात यह है कि ट्रैफिक की समस्या दार्जिलिंग में भयावह रूप ले चुकी है. जगह-जगह ट्रैफिक जाम का सामना करना पड़ सकता है. अगर आप यह सोच रहे हो कि एक ही दिन में दार्जिलिंग से सिलीगुड़ी लौट सकते हैं तो यह मुमकिन नहीं होगा. क्योंकि वहां ट्रैफिक जाम इतना ज्यादा है कि पूरा दिन ही आपको इसी में बीत जाएगा. इस समय दार्जिलिंग में किसी भी छोटे बड़े होटल में कमरा नहीं मिलेगा. अगर आपने पहले से कमरा बुक कराया हो तो ठीक है. अन्यथा काफी परेशानी होगी.

दार्जिलिंग में ट्रैफिक समस्या काफी पहले से है. लेकिन उसके समाधान के लिए अभी तक जीटीए की ओर से कोई पहल नहीं की गई है. यह आरोप हाम्रो पार्टी कार्यकर्ता नोरा सुब्बा ने लगाया है. कुछ समय पहले जीटीए की ओर से नाडर्न शेरपा ने एक कार्यक्रम में इशारा किया था कि पहाड़ों में ट्रैफिक समस्या का समाधान तुरंत निकाला जाएगा.जीटीए के प्रमुख अनित थापा ने भी लेबुंग में गोरखा स्टूडियो मैदान से पंडम तक तीन मील तक 13 किलोमीटर की एक नई सड़क के निर्माण की घोषणा की थी. लेकिन आज तक सड़क निर्माण की दिशा में कोई पहल नहीं की गई.

अगर गोरखा स्टूडियो मैदान से पंडम तक तीन मील की नई सड़क का निर्माण किया जाता है तो यह कालिमपोंग, म॔गपू और सिलीगुड़ी जाने वाले वाहनों के लिए बहुत छोटा मार्ग होगा और इससे पहाड़ों में यातायात की समस्या का कुछ हद तक समाधान हो सकेगा. मगर ऐसा नहीं हो सका है. शायद चुनाव के बाद जीटीए की ओर से इस संबंध में पहल की जा सके. परंतु इस समय तो दार्जिलिंग में पर्यटक काफी परेशान है.

इस समय दार्जिलिंग में काफी संख्या में टूरिस्ट पहुंच चुके हैं. इससे दार्जिलिंग में कूड़े की भी एक बड़ी समस्या सामने आ रही है. एक तो शहर के लोग ट्रैफिक जाम से पहले से ही परेशान है. ऊपर से जगह-जगह कूड़े के ढेर ने दार्जिलिंग शहर के सौंदर्य को नष्ट किया है. इसका पर्यटकों पर भी अच्छा प्रभाव नहीं पड़ा है. शहर को गंदा करने और जगह-जगह सड़कों पर कूड़ा फेंकने में कुछ पर्यटक भी शामिल हैं. इन सभी स्थितियों को देखते हुए गत 3 मई 2024 को दार्जिलिंग नगर पालिका कंजर्वेशन विभाग की एक बैठक हुई थी.

जिसमें कूड़े के खिलाफ एक ठोस रणनीति और नियम तैयार किया गया. दार्जिलिंग नगर पालिका कंजर्वेशन डिपार्मेंट के इंचार्ज नीतीश गुरुंग ने बताया कि दार्जिलिंग में पर्यटकों की तादाद देखकर नगर पालिका की ओर से कूड़े-करकट के खिलाफ नियम जारी किए गए हैं.

इसके अनुसार अगर कोई भी व्यक्ति घर का कचरा सड़कों पर फेंकते हुए पाया जाता है तो उसका ₹500 से लेकर ₹1000 तक चालान किया जा सकता है. वह चाहे कोई पर्यटक ही क्यों ना हो. अगर वह ऐसा करता है तो पहले उसे चेतावनी दी जाएगी और फिर चालान किया जाएगा. नीतीश गुरुंग ने बताया कि दार्जिलिंग आए पर्यटकों को नियमावली की प्रति सौंपी जा रही है.

स्थानीय लोगों को भी चेतावनी दी गई है. 27 मई 2024 से ही दार्जिलिंग में कूड़ा प्रबंधन प्रभावी हो गया है. नियम के अनुसार दार्जिलिंग में रहने वाले लोगों को और पर्यटकों को शाम 7:00 बजे से लेकर सुबह 5:00 बजे तक अपने घर का कचरा कूड़ेदान में ही डालना होगा. अतः दार्जिलिंग जाने से पहले वहां के नए नियमों के बारे में भी जानकारी प्राप्त कर लें अन्यथा जुर्माने के रूप में ₹500 से लेकर ₹1000 तक फाइन देना पड़ सकता है.

(अस्वीकरण : सभी फ़ोटो सिर्फ खबर में दिए जा रहे तथ्यों को सांकेतिक रूप से दर्शाने के लिए दिए गए है । इन फोटोज का इस खबर से कोई संबंध नहीं है। सभी फोटोज इंटरनेट से लिये गए है।)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *