July 13, 2024
Sevoke Road, Siliguri
उत्तर बंगाल लाइफस्टाइल सिलीगुड़ी

पुलिस और टास्क फोर्स सब्जियों के बाजार की निगरानी करेंगे! ममता की सलाह, लोग तिलापिया मछली खाएं!

सिलीगुड़ी ही नहीं बल्कि पूरे बंगाल में सब्जियों की कीमत सुरसा के मुख की तरह बढ़ती जा रही है. भारी बरसात और बाढ़ में खेतों में लगी सब्जी फसलों को व्यापक नुकसान पहुंचा है. माल कम और खपत अधिक होने से किसानों ने सब्जियों के दाम चार गुने पांच गुने बढ़ा दिए हैं. ऐसे में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने राज्य के लोगों को सलाह दी है कि वह बिना डरे तिलापिया मछली खाएं. इसके साथ ही ममता बनर्जी ने टास्क फोर्स को सब्जियों के बाजार की निगरानी करने का निर्देश दिया है. उन्होंने टास्क फोर्स को यह सुनिश्चित करने को कहा है कि कोई भी व्यापारी उचित रेट पर ही सब्जियों की बिक्री कर सके.

सिलीगुड़ी से लेकर कोलकाता तक सब्जियों की कीमत में कई गुना बढ़ोतरी कर दी गई है. इसके कारण आम और गरीब लोगों को सब्जी खाना मुहाल हो रहा है. सिलीगुड़ी के बाजार में हरी सब्जियों के भाव ₹80 से लेकर ₹100 प्रति किलो तक पहुंच गए हैं. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार यूं तो भारी परिमाण में हरी सब्जियां बाढ व बरसात में नष्ट हुई है. पर सब्जियों की कीमत एकदम से बढ़ने का मुख्य कारण यह नहीं है. दरअसल कुछ व्यापारियों ने सब्जियों की जमाखोरी भी शुरू कर दी है, ताकि वे अधिक से अधिक मुनाफा कमा सकें कमाई कर सकें.

कोलकाता में भी सब्जियों के भाव में बेतहाशा वृद्धि हुई है. सब्जियों की जमाखोरी करने वाले व्यापारियों और एजेंटों पर ममता बनर्जी काफी नाराज हैं. बाजार विश्लेषकों के अनुसार सब्जियों की किल्लत उतनी नहीं है, जितना कि कुछ व्यापारियों ने भारी मुनाफा कमाने के लिए हरी सब्जियों की जानबूझकर किल्लत उत्पन्न कर दी है. आम लोगों की परेशानी को समझते हुए मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने टास्क फोर्स को सब्जियों के बाजार पर नियंत्रण का निर्देश दिया है. सूत्रों ने बताया कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी सब्जियों के बढ़ते दाम को लेकर काफी गुस्से में है. उन्होंने कहा है कि अगर 10 दिनों के अंदर सब्जियों के दाम कम नहीं हुए तो सरकार जरूरी कदम उठाएगी.

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने पुलिस अधिकारियों को गुरुवार से बाजार में जाकर निगरानी करने का निर्देश दिया है. उन्होंने टास्क फोर्स को प्रत्येक सप्ताह बैठक करने का भी निर्देश दिया है. आज मुख्यमंत्री ने सब्जियों की महंगाई और नियंत्रण को लेकर एक बैठक की है. सब्जियों के दाम कम करने को लेकर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कुछ दिशा निर्देश दिए हैं. इसके अनुसार कोल्ड स्टोरेज में अतिरिक्त आलू को जमा ना करने देने की सलाह दी है. उन्होंने नासिक के बजाय राज्य में किसानों से प्याज खरीदे जाने पर बल दिया. उन्होंने यहां तक कहा कि राज्य की जरूरत को पूरा किए बिना सब्जियों को विदेश में निर्यात नहीं किया जाने देना चाहिए.

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने पुलिस और टास्क फोर्स के लोगों को बाजार पर निगरानी रखने के लिए कहा है. उन्होंने कहा कि जब तक सब्जियों की कीमत कम नहीं हो जाती, पुलिस और टास्क फोर्स के लोग बाजार पर नजर रखेंगे. यह लोग हर हफ्ते मुख्यमंत्री को रिपोर्ट देंगे. मुख्यमंत्री ने खासकर मुख्य सचिव, राज्य पुलिस डीजी आदि को सख्त कदम उठाने के लिए कहा है. मुख्यमंत्री ने बैठक में कहा कि इस बार राज्य अंडा उत्पादन में आत्मनिर्भर बन रहा है. ममता बनर्जी ने अधिकारियों से पूछा कि क्या तिलापिया मछली खाने से कोई बीमारी हो सकती है अथवा शरीर पर इसका कोई प्रतिकूल प्रभाव पड़ सकता है या नहीं. इसके जवाब में अधिकारियों ने कहा कि ऐसा कोई सबूत नहीं मिला है. तब ममता बनर्जी ने लोगों को तिलापिया मछली खाने की सलाह दी है.

(अस्वीकरण : सभी फ़ोटो सिर्फ खबर में दिए जा रहे तथ्यों को सांकेतिक रूप से दर्शाने के लिए दिए गए है । इन फोटोज का इस खबर से कोई संबंध नहीं है। सभी फोटोज इंटरनेट से लिये गए है।)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *