June 23, 2024
Sevoke Road, Siliguri
Uncategorized

सिक्किम में कोरोना के बढ़ते कदम! एक बार फिर से लॉकडाउन होगा?

भारत में कोरोना के बढ़ते मामलों ने सरकार की चिंता बढ़ा दी है. भारत में कोरोना कितनी तेजी से बढ़ रहा है, यह इसी बात से पता चल जाता है कि बुधवार को कोरोना के 4435 नए मामले आए थे. जबकि गुरुवार को 5335 मामले आए और शुक्रवार को देशभर में कोरोना के 6050 मामले सामने आए हैं. यानी प्रत्येक दिन कोरोना के मामले हजारों में बढ़ रहे हैं. कोरोना के जितने मामले सामने आ रहे हैं,उनमें 38.2% मामले xBB.1. 16 वैरीअंट के हैं.

तो क्या देश में एक बार फिर से लॉक डाउन की तैयारी चल रही है? क्योंकि पूर्व में सरकार ने कोरोना से बचाव के लिए देशभर में लॉकडाउन लगा दिया था. बाद में राज्यों ने लॉकडाउन लगाया और लोगों की रोजी-रोटी पर संकट खड़ा हो गया. क्या एक बार फिर से यही स्थिति उत्पन्न होने वाली है? हो सकता है कि यह स्थिति उत्पन्न ना हो, परंतु विशेषज्ञ इसके बढ़ते हुए कदमों को लेकर चिंतित जरूर हैं.

कोरोना के नए वैरीअंट पूर्वोत्तर राज्यों में भी दस्तक देने लगे हैं. सिक्किम में पिछले 24 घंटों के दौरान कोरोना के 23 नए मामले सामने आए हैं. अब तक विभिन्न अस्पतालों में उपचाराधीन मरीजों की संख्या 42 हो गई है, जबकि संक्रमण से अब तक 43064 लोग ठीक हो चुके हैं.

केंद्र सरकार ने सभी राज्यों को निर्देश दे रखा है कि राज्य सरकारें कोरोना गाइडलाइंस का पालन करने के लिए लोगों को निर्देश दें. इस बीच सिक्किम पहला राज्य है, जहां राज्य स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग ने राज्य की जनता के लिए गाइडलाइंस जारी किया है. जिसमें कहा गया है कि सार्वजनिक स्थानों पर लोग मास्क पहने और कोरोना से बचाव के लिए अपना हाथ साफ रखें, बार-बार हाथ धोएं. छींकते समय नाक और मुंह पर रुमाल रखें. भीड़ भाड़ में जाने से बचें और लक्षण दिखने पर खुद को क्वारंटाइन कर ले तथा अपने रक्त की जांच कराएं… यानी पूर्व में कोरोना से बचाव के जो निर्देश हैं उन सभी का पालन सिक्किम में शुरू कर दिया गया है.

विगत 6 महीने में पहली बार देश में छ हजार से ज्यादा नए मामले सामने आए हैं. पॉजिटिविटी रेट भी बढ़कर 3.39% हो गया. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने राज्य और केंद्र शासित प्रदेशों के साथ उच्च स्तरीय बैठक बुलाई . बैठक में स्वास्थ्य मंत्री ने कहा है कि राज्य कोरोना को हल्के में नहीं लें. अब 10 और 11 अप्रैल को मॉक ड्रिल होगी. इन सभी के बीच विशेषज्ञों की भविष्यवाणियां काफी डराने वाली हैं. आईआईटी कानपुर के प्रोफेसर मनिंद्र अग्रवाल ने कहा है कि वर्तमान में तो स्थिति ज्यादा गंभीर नहीं है, परंतु यह पता नहीं है कि कौन सा वैरीअंट कितना खतरनाक साबित हो. उन्होंने भविष्यवाणी की है. हो सकता है कि नए वेरिएंट के कारण देश में चौथी लहर जैसी स्थिति उत्पन्न हो जाए. उनकी भविष्यवाणी के अनुसार अगले 2 महीनों में कोरोना के नए मामले रोजाना 15000 से 20000 तक जा सकते हैं.

दिल्ली, गुजरात समेत देश के लगभग सभी राज्यों में कोरोना बढ रहा है. दिल्ली में पिछले 24 घंटों में कोरोना के 509 नए मामले सामने आए हैं. दिल्ली में पॉजिटिविटी रेट 26% को भी पार कर गई है.लेकिन इन सभी के बीच एक राहत की खबर यह है कि मौजूदा स्थिति को देखते हुए अगर मामलों की संख्या 10 गुना भी बढ़ जाए तब भी देश में सामान्य स्थिति ही रहेगी. क्योंकि विशेषज्ञ मानते हैं कि यह एक तरह का फ्लू है जो कमजोर इम्यूनिटी वाले लोगों को ही संक्रमित करता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *