July 12, 2024
Sevoke Road, Siliguri
उत्तर बंगाल मौसम लाइफस्टाइल सिलीगुड़ी

सावधान! ठंड और बढ़ेगी! सिलीगुड़ी और पहाड़ में 24 घंटे में होगी बारिश!

जनवरी महीने में सर्दी का सितम पिछले दो दिनों से जारी है. 9 जनवरी को सिलीगुड़ी और आसपास के इलाकों में जबरदस्त ठंड देखी गई. 10 जनवरी को भी ठंड पहले की तरह ही लोगों को क॔पकपाती रही. कोहरा और धूप छांव के कारण भीषण सर्दी का एहसास हो रहा है. इस बीच अलीपुर मौसम विभाग द्वारा जारी की गई भविष्यवाणी रूह कंपकपा देने वाली है.

मौसम विभाग के अनुसार अगले 24 घंटे के दौरान सिलीगुड़ी समेत पूरे बंगाल में ठंड में और ज्यादा वृद्धि होने वाली है. मौसम विभाग के अनुसार तापमान में 2 से 4 डिग्री सेल्सियस तक की गिरावट हो सकती है. इसका मतलब यह है कि ठंड लोगों को ठिठुरने पर मजबूर कर देगी. मौसम विभाग ने कहा है कि दार्जिलिंग जिले में बारिश की संभावना बनी हुई है.

आज से लेकर कल तक पहाड़ और समतल में बारिश हो सकती है. दिसंबर महीने में ठंड का एहसास नहीं हुआ था. मौसम में भी लगातार बदलाव हो रहा था. सर्द गरम के कारण कुछ संक्रामक रोग फ्लू, खांसी सर्दी का भी प्रकोप बढ़ गया. सिलीगुड़ी में भी यह देखा गया था. जनवरी महीने से लगातार ठंड बढ़ती जा रही है. यह ठंड अगले कुछ दिनों तक जारी रहेगी.

वर्तमान ठंड की दर में वृद्धि होने वाली है. केवल सिलीगुड़ी और उत्तर बंगाल में ही नहीं, बल्कि दक्षिण बंगाल के कई जिलों में भी ऐसा देखा जा सकता है. तापमान में गिरावट आने से ठंड का बढ़ना स्वाभाविक है. तापमान में गिरावट आने से कोहरा भी बढ़ेगा. पिछले दो दिनों से सिलीगुड़ी और आसपास के क्षेत्रों में शाम ढलते के साथ ही कोहरे का विस्तार होता जाता है.

मौसम विभाग के अनुसार आज और कल वर्धमान, बीरभूम, नादिया और मुर्शिदाबाद जिले घने कोहरे से ढके रह सकते हैं. जबकि राज्य के शेष जिलों में विजिबिलिटी दर में कमी रहेगी. पिछले दो दिनों से सिलीगुड़ी और आसपास के इलाकों में सुबह और शाम के समय घना कोहरा देखा जाता है. घने कोहरे का उड़ानों पर भी भारी असर पड़ रहा है. बागडोगरा हवाई अड्डे पर पिछले दो दिनों से नियमित उड़ानों में बाधा आ रही है. रेल और सड़क यातायात भी प्रभावित हुआ है. रेल गाड़ियां समय पर नहीं चल रही हैं.

जब आसपास में घना कोहरा और अत्यधिक ठंड हो तो गाड़ी संभल कर चलानी चाहिए. गाड़ी चलाते समय हेडलाइट जलाकर रखें और गाड़ी की स्पीड नियंत्रण में रखें. क्योंकि ऐसे मौसम में दुर्घटनाएं अधिकतर होती रहती हैं. सड़क दुर्घटनाओं से बचने के लिए यही आवश्यक है कि कभी भी तेज गति से वाहन न चलाएं. बच्चों को भीषण ठंड में घर में ही रखें और बाहर जाने से रोके. इस मौसम में बच्चों के संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है. कुछ एहतियात बरतने से ठंड का मुकाबला आसानी से किया जा सकता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *