April 16, 2024
Sevoke Road, Siliguri
उत्तर बंगाल मौसम सिलीगुड़ी

सिक्किम में बारिश और बर्फबारी के आसार!

हालांकि आज सिलीगुड़ी का मौसम दोपहर में थोड़ा बदला बदला नजर आया. धूप होने से ठंड कुछ कम थी. पर इससे यह अनुमान लगाना कि मौसम में आगे भी सुधार रहेगा, भूल होगी. हां एक-दो दिनों तक लोगों को थोड़ी राहत मिलेगी जरूर. लेकिन इसके बाद एक बार फिर से भीषण ठंड का सामना लोगों को करना पड़ सकता है.

बंगाल की खाड़ी और पश्चिमी हिमालय क्षेत्र से उठी हवा में नमी और पश्चिमी विक्षोभ के चलते अगले कुछ दिनों तक सिक्किम और हिमालय के क्षेत्रों में बारिश और बर्फबारी का अनुमान मौसम विभाग ने लगाया है. अलीपुर मौसम विभाग ने 15 जनवरी से लेकर 18 जनवरी तक सिक्किम के अनेक भागों में हल्की से लेकर मध्यम बारिश और बर्फबारी की भविष्यवाणी की है.

इस बीच सिलीगुड़ी समेत पूरे बंगाल में ठंड का प्रकोप बढ़ गया है. कोलकाता में कुछ दिनों पहले तक न्यूनतम तापमान 17 डिग्री सेल्सियस था. अब 12.8 डिग्री सेल्सियस तक नीचे चला आया है. केवल 48 घंटे में ही राज्य के विभिन्न जिलों में तापमान में 5 डिग्री सेल्सियस तक की गिरावट दर्ज की गई है. राज्य के हावड़ा, हुगली, उत्तर और दक्षिण 24 परगना, पूर्वी और पश्चिम मेदिनीपुर ,पुरुलिया, बांकुरा आदि जिलों में भीषण ठंड पड़ रही है. उत्तर बंगाल में तो पहले से ही लोग ठंड का सामना कर रहे हैं.

हालांकि आज से तापमान में अगले दो दिनों तक थोड़ी वृद्धि देखी जा सकती है. लेकिन सुबह और शाम का कोहरा जारी रहेगा. उत्तर बंगाल के जलपाईगुड़ी ,कूचबिहार, अलीपुरद्वार इत्यादि जिलों में घना कोहरा देखा जा रहा है. ऐसे में संभल कर वाहन चलाने की जरूरत है. अन्यथा दुर्घटना होते देर नहीं लगेगी. घने कोहरे के चलते शुक्रवार की रात लगभग 8:00 बजे जलपाईगुड़ी के दास दरगा इलाके में सड़क दुर्घटना में पिता और पुत्र की मौत हो गई. यह दुर्घटना सिलीगुड़ी और जलपाईगुड़ी राष्ट्रीय राजमार्ग पर हुई थी.

अलीपुर स्थित क्षेत्रीय मौसम विज्ञान केंद्र की आधिकारिक वेबसाइट से मिली ताजा जानकारी के अनुसार दोपहर के समय को छोड़कर बाकी समय हल्की से लेकर मध्यम स्तर तक की धुंध छाई रहेगी. 14 जनवरी तक तो ठ॔ड वैसे ही पड़ती रहेगी, जैसी अभी पड़ रही है. लेकिन उसके बाद एक-दो दिन तक मौसम में हल्का सुधार हो सकता है. फिर 15 से लेकर 18 जनवरी तक सिक्किम में बारिश और बर्फबारी का असर सिलीगुड़ी और आसपास के क्षेत्रो पर पड़ना तय है.

इस बीच आईएमडी के 150 वें स्थापना दिवस पर भारतीय मौसम विज्ञान विभाग की ओर से पंचायत स्तर पर भी मौसम का पूर्वानुमान जारी करने की घोषणा की गई है. इसका लाभ किसानों को खेती-बाड़ी के कार्यों में ज्यादा होगा. इसके साथ ही आम लोग भी काफी लाभान्वित होंगे. क्योंकि मौसम का अपडेट स्थानीय स्तर पर मिलने के बाद उसके अनुरूप लोग सावधानी रख सकेंगे. सोमवार को उपराष्ट्रपति इसका शुभारंभ करने जा रहे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

DMCA.com Protection Status